पटना: साल 2018 तक तैयार हो जायेगा अंतरराज्यीय बस टर्मिनल

पटना: साल 2018 तक तैयार हो जायेगा अंतरराज्यीय बस टर्मिनल

By: Shashank Kumar
December 24, 05:12
0
पटना : बिहार की राजधानी पटना में दो साल पुरानी राज्य की पहली इंटर स्टेट बस टर्मिनल बनाने का काम जनवरी से शुरू हो जायेगा.

पटना गया रोड स्थित पहाड़ी में 331 करोड़ की लागत से बनने वाले बस टर्मिनल का शिलान्यास शनिवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार करेंगे. पहाड़ी के 25 एकड़ में इस बस टर्मिनल को बनाने की योजना है. जेनुरुम के तहत बुडको की ओर से खरीदी गयी 125 नयी बसों की भी शुरुआत की जायेगी. साथ ही साढ़े नौ करोड़ की लागत से एसपी वर्मा रोड से मंदिरी तक बने नाले का शुभारंभ किया जायेगा. वहीं, रिवर फ्रंट डेवलपमेंट के तहत गंगा तट पर बने रहे 20 घाटों में से अब तक पूरे हो चुके 12 घाटों और राज्य भर में बने दस बस स्टैंड का उद्घाटन होगा. इन सारे प्रोजेक्ट को बिहार राज्य आधारभूत संरचना विकास निगम लिमिटेड यानी बुडको ने पूरा किया है. 

 

इस दौरान बुडको की ओर से बनाये गये बांका बस स्टैंड (लागत 1.94 करोड़), मखदुमपुर बस स्टैंड (लागत 1.99करोड़), बोध गया बस स्टैंड (लागत 1.97 करोड़), सुपौल बस स्टैंड (लागत  3.98 करोड़), कटिहार बस स्टैंड (लागत  4.99 करोड़), नासरीगंज बस स्टैंड (लागत 2 करोड़), भभुआ बस स्टैंड (लागत 3.95 करोड़) और बेलसंड बस स्टैंड (लागत 1.99 करोड़) का उद्घाटन किया जाना है. इसके अलावा गंगा किनारे 98 करोड़ की लागत से बने  12 घाट मसलन अंटा घाट, बीएन कॉलेज घाट, मिश्री घाट, बहरवा घाट, रानी घाट, चौधरी टोला घाट, पथरी घाट, आलमगंज घाट, हनुमान घाट, राज घाट और लहरवा घाट के अलावा 9.50 करोड़ की लागत से बने मंदिरी से एसपी वर्मा रोड में बने नाले का भी उद्घाटन किया जायेगा.

बुडको के प्रबंध निदेशक अमरेंद्र प्रसाद सिंह ने कहा कि जेनुरूम के तहत बुडको के माध्यम से खरीदी गयी 125 नयी बसों का भी उद्घाटन किया जायेगा, जो प्रकाश पर्व के दौरान रिंग बस सेवा के लिए चलेंगी. इसके बाद बिहार राज्य पथ परिवहन निगम के माध्यम से राज्य के अन्य शहरों को इसे दिया जायेगा. बुडको कई बड़ी योजनाओं पर काम कर रहा है. शनिवार को कई बड़ी योजनाओं का उद्घाटन व शिलान्यास मुख्यमंत्री करेंगे. हम समय पर काम पूरा करने के लिए प्रयासरत हैं.  

 

पहाड़ी में बननेवाले अंतरराज्यीय बस टर्मिनल की योजना वर्ष 2014 की है. योजना की डीपीआर तब से तैयार है, लेकिन बस टर्मिनल का काम फंड और जमीन के अभाव में रुका था. परियोजना के निदेशक प्रभाष चंद्रा बताते हैं कि बुडको ने राज्य सरकार की गारंटी पर हडको से लोन फाइनल कर लिया है. पहाड़ी में जमीन मालिकों काे लगभग मुआवजा भी दे दिया गया है. अब इस योजना को 331.61 करोड़ की लागत से पूरी की जायेगी. टेंडर भी फाइल हो चुका है. 

इसमें मुख्य भवन 53821 वर्ग मीटर में बनेगा. वाइ-फाइ, सीवरेज ट्रीटमेंट प्लान के साथ 50 शहरों के  76 बसों के ठहरने की व्यवस्था के साथ शाॅपिंग मॉल की भी सुविधा रहेगी. क्षेत्र में कुल पांच भवनों का निर्माण किया जाना है. इसमें आगमन भवन (G+5), प्रस्थान भवन (G+5), व्यावसायिक भवन (G+8), लिंक ब्लॉक (G+6) व वर्कशॉप (G+2) बनेगा. 63 हजार मीटर में होगा. इस योजना को 24 माह यानी दिसंबर 2018 तक शापूरजी पाॅलनजी एंड कंपनी प्राइवेट लिमिटेड पूरा करेगी. 

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।

comments
No Comments