नहीं भाया सात लाख के JOB का पैकेज, फांसी पर लटक कर दे दी NIT स्टूडेंट ने जान

नहीं भाया सात लाख के JOB का पैकेज, फांसी पर लटक कर दे दी NIT स्टूडेंट ने जान

By: Anurag Goel
November 09, 11:11
0
...

PATNA : एनआईटी पटना के बीटेक अंतिम वर्ष के छात्र सुरेंद्र पेंटापार्थी ने कैपस सेलेक्शन में मिले सात लाख सालाना पैकेज से असंतुष्ट होकर सुसाइड कर लिया। बुधवार की सुबह उसका शव पीरबहोर थाने के गोलकपुर की अमानत कॉलोनी स्थित रिजवान लॉज में उसके कमरे में पंखे से लटका पाया गया।

मृत छात्र सुरेंद्र मूल रूप से आंध्रप्रदेश के तेलंगाना के करीमनगर का रहने वाला था। उसके पिता मलकिया पेंटापार्थी दुबई में काम करते हैं। सुरेंद्र दो भाइयों में छोटा था और एक बहन है। पटना पुलिस ने उसके परिजनों को जानकारी दे दी है। उनके पटना पहुंचने के बाद शव का पोस्टमार्टम कराया जायेगा।



सुबह जब दरवाजा नहीं खोला तो छात्रों को हुई शंका

रिजवान लॉज के चार-पांच छात्र सुरेंद्र के साथ उसके कमरे में ही खाना बनाते थे। उनलोगों ने मंगलवार की रात भारत-न्यूजीलैंड टी-20 का मैच देखा और फिर साथ में ही खाना बनाया। ये सभी छात्र आंध्रप्रदेश के ही रहने वाले हैं। इसके बाद सभी ने खाना खाया, लेकिन सुरेंद्र ने बाद में खाना खाने की बात कही, जिसके बाद अन्य सभी छात्र अपने-अपने कमरे में चले गये। बुधवार की सुबह में इसने दरवाजा नहीं खोला तो छात्रों को शंका हुई।

उनलोगों ने दरवाजे को खटखटाया, लेकिन अंदर से कोई रिस्पांस नहीं मिला। इसके बाद उनलोगों ने खिड़की से देखा तो सुरेंद्र पंखे से फांसी के फंदे में लटक रहा था। इसके बाद छात्रों ने दरवाजे को तोड़ा और उसे लेकर अस्पताल गये, जहां डॉक्टरों मृत घोषित कर दिया। इसके बाद पुलिस को भी जानकारी दे दी। पुलिस ने शव को बरामद कर लिया और परिजनों को जानकारी देने के बाद आने का इंतजार कर रही है। उसके कमरे में उसका खाना वैसे ही पड़ा था। दोस्तों ने बताया कि वह प्रतिदिन की तरह हंस-बोल रहा था और उनलोगों को उसने आभास तक नहीं होने दिया कि वह सुसाइड कर लेगा। किसी भी गंभीर विषय पर चर्चा तक नहीं हुई थी।



दो माह पहले विप्रो में मिली थी जॉब, था डिप्रेशन में

सुरेंद्र आईटी की पढ़ाई कर रहा था और उसका कैंपस सेलेक्शन भी हो चुका था। कुछ दिनों में पासआउट भी हो जाता। सुरेंद्र के दोस्त के भार्गव ने बताया कि दो माह पहले कैंपस सेलेक्शन में उसे विप्रो कंपनी में सात लाख सालाना पैकेज पर सॉफ्टवेयर इंजीनियर के रूप में जॉब मिली थी।
लेकिन वह उससे संतुष्ट नहीं था और डिप्रेशन में था। इसकी जानकारी परिजनों को थी। पीरबहोर थानाध्यक्ष गुलाम सरवर के अनुसार किसी प्रकार का सुसाइड नोट नहीं मिला है और अब तक जांच में जो बातें सामने आयी हैं, उनके अनुसार मामला सुसाइड का है। उसके दोस्त को उसकी बहन ने फोन कर उसके डिप्रेशन में होने की जानकारी दी थी।

 

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।
comments