अब स्कूल का रजिस्टर रखेगा बाल विवाह पर नजर, लड़कियां नहीं आयीं स्कूल तो टीम पहुंचेगी घर

अब स्कूल का रजिस्टर रखेगा बाल विवाह पर नजर, लड़कियां नहीं आयीं स्कूल तो टीम पहुंचेगी घर

By: Anurag Goel
November 03, 03:11
0
...

PATNA: बाल विवाह की रोकथाम के लिए अब सभी जिलों के माध्यमिक व हाई स्कूलों में पढ़ाई करने वाली लड़कियों पर नजर रखी जायेगी।

इसको लेकर एक अलग से रजिस्टर रहेगा और अगर 11 से 18 वर्ष की आयु तक की लड़कियां अचानक स्कूल आना बंद करती हैं, तो स्कूल के माध्यम से एक टीम लड़की के घर जायेगी। जहां जाने के बाद टीम यह जानकारी लेगी कि बच्ची ने किस कारण से स्कूल आना छोड़ा है।

अगर कहीं से भी कोई बाल विवाह का मामला प्रकाश में आया, तो तुरंत इसकी सूचना स्कूल के प्राचार्य को देनी है और प्राचार्य के माध्यम से सूचना अनुमंडल अधिकारी को दी जायेगी। स्कूल परिसर में स्लोगन व गांव में बाल विवाह होने पर कहां जानकारी दें, इसके लिए उस अनुमंडल के एसडीओ का मोबाइल नंबर सभी जगह अंकित किया जायेगा।



स्कूल में लड़कियों को किया जायेगा जागरूक, लड़कियां विरोध कैसे करें, इसके लिए पूरी जानकारी दी जायेगी

स्कूल में लड़कियों को जागरूक करने के लिए सप्ताह में एक अलग से 30 मिनट की कक्षा चलेगी, जिसमें उनको यह बताया जायेगा कि अगर कहीं भी किसी का बाल विवाह हो, तो उसे किस तरह से रोका जा सके। क्लास में ग्रुप बना कर बाल विवाह को रोकने की तकनीक या किसी के घर में अगर ऐसा हो, तो उसका विरोध कैसे करें, इसके लिए पूरी जानकारी दी जायेगी।

आंगनबाड़ी व जीविका की दीदी करेंगी गांव में मॉनीटरिंग : गांव में आंगनबाड़ी सेविका व जीविका की दीदियों के माध्यम से गांव की मॉनीटरिंग की जायेगी। जहां भी बाल विवाह होता नजर आयेगा, तो पहले उसे रोकने का प्रयास करेंगी या शिकायत तुरंत संबंधित थाना को करनी है।



स्कूल के पास रहे जानकारी

बाल विवाह को जड़ से खत्म करने के लिए स्कूलों में भी रजिस्टर के माध्यम से नजर रखा जायेगा, ताकि कहीं भी कोई लड़की स्कूल आना बंद करे, तो उसकी सही जानकारी स्कूल के पास रहे।
संजय कुमार अग्रवाल, डीएम, पटना

 

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।
comments