गजब महंगाई की माया, चिकन हुआ सस्ता और अंडा हो गया महंगा

गजब महंगाई की माया, चिकन हुआ सस्ता और अंडा हो गया महंगा

By: Sanjeev kumar
November 20, 08:11
0
.....

Live bihar desk: देश में महंगाई बढ़ती ही जा रही है। एक तरफ सब्जियों के दाम आसमान छू रहे हैं, तो वहीं दूसरी तरफ अंडे भी एक तरह चिकन से ज्यादा महंगे साबित हो रहे हैं। बता दें कि पुणे में 100 अंडों की ट्रे का रेट करीब 585 रुपये हो गया है। एक अंग्रेजी अख़बार की रिपोर्ट के मुताबिक, देश में कई जगहों पर अंडों का खुदरा रेट ही 7 रुपये पर पीस हो गया है, जो कि अंडा खाने वालों पर बड़ा असर डाल सकता है। रिपोर्ट के अनुसार कहा गया है कि मौजूदा हाल में अंडे से ज्यादा सस्ता तो चिकन हो गया है। अख़बार के मुताबिक, एक तरफ चिकन जहां 130-150 रुपये किलो बिक रहा है, तो वहीं दूसरी तरफ चिकन की तुलना में अंडों का रेट 120-130 पड़ रहा है, जबकि अंडे का औसतन वजन 55 ग्राम होता है। 

तो वहीं एक रिपोर्ट के मुताबिक, ठंड बढ़ने के कारण खासकर उत्तर भारत में अंडों की डिमांड काफी बढ़ गई है, तो वहीं इस साल तमिलानाडू में बारिश के कारण काफी तबाही हुई है। जिस वजह से अंडों का उत्पादन काफी कम हुआ है। तो वहीं बीफ बैन के कारण चिकन की डिमांड बढ़ गई है, जिसका सीधा असर अंडों पर पड़ रहा है। इसी वजह से अंडों के रेट आसमान छू रहे हैं। बता दें कि देश में सबसे ज्यादा अंडों का उत्पादन तमिलनाडू में होता है।

देश में इन दिनों महंगाई ने आग लगा रखी हैं, क्योंकि सब्जियों के दाम आसमान छू रहे हैं। इस वजह से भी अंडों की मांग बढ़ गई है। रिपोर्ट के मुताबिक पिछले 6 महीनों में अक्टूबर में सबसे ज्यादा सब्जियों के रेट बढ़ गए हैं, जो कि पिछले साल की तुलना में इस साल 36% अधिक हैं। रिपोर्ट के मुताबिक, देश में हर रोज 19.4 करोड़ लोग रोज भूखे सो जाते हैं। इसके अलावा देश का हर चौथा बच्चा कुपोषण का शिकार है। ऐसे में आम आदमी की पहुंच से सब्जियां बहुत दूर होती जा रही हैं।

क्योंकि भिंडी 80 रुपये किलो, प्याज-टमाटर 40-50, मिर्ची 100 रुपये किलो हो गई है। और जब सब्जियां महंगी हो रही हैं, तो लोग अंडों की तरफ ही भाग रहे हैं। इसी वजह से अंडों का रेट भी बढ़ता जा रहा है। अगर इसी तरह मंहगाई बढ़ती रही, तो वाकई में आम आदमी की परेशानियां बढ़ेगी। साथ ही कुपोषण दर में और ज्यादा इजाफा हो जाएगा ।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।
comments