कलयुगी पिता: मोबाइल खरीदने के नहीं थे पैसे, तो 23 हजार में बेच दिया अपना 11 महीने का बेटा

कलयुगी पिता: मोबाइल खरीदने के नहीं थे पैसे, तो 23 हजार में बेच दिया अपना 11 महीने का बेटा

By: Amrendra
September 13, 12:09
0
.

New Delhi: ना बाप बड़ा ना भईया सबसे बड़ा रुपैया, ये लाईन आज के दौर के लिए ही बनाई गई है। इस कलयुग में कोई किसी का नहीं है सिर्फ सब पैसे  के है। ओडिशा में भी कुछ ऐसा ही देखने को मिला है। जहां एक बाप ने अपने ही बेटे को पैसों के लिए बेच दिया है। जी ओडिशा के भद्रक जिले से मंगलवार को मुखि नाम के आदमी को गिरफ्तार किया गया है। उसे इसलिए गिरफ्तार किया गया है क्योंकि उसने अपने 11 महीने के बेटे को मोबाइल फोन खरीदने के लिए बैच दिया। 

पुलिस ने बताया कि बलराम मुखि ने अपने बेटे को 23,000 रुपये में बेचा था। जिसमें से उसने 2,000 रुपये का मोबाइल पर खरीदा और 1,500 रुपये की चांदी की पायल अपनी 7 साल की बेटी के लिए खरीदा। बाकी बचे हुए पैसे उसने शराब में लगा दिए। पुलिस ने मुखि की पत्नी से भी पूछताछ की जिसमें ये पता चला कि उनका एक 10 साल का बेटा भी है। भद्रक पुलिस अधीक्षक अनुप साहू ने बताया कि मुखर्जी को कोई नियमित आय नहीं है। वह सफाई कर्मचारी का काम करता है और उसे शराब की लत लगी हुई है। साथ ही पुलिस ने ये जानकारी भी दी है कि उसके साथ इस अपराध में आंगनबाढ़ी में काम करने वाली औरत और बलिया के जीजा भी शामिल थें। 

आपको बता दें कि भद्रक नगर पुलिस स्टेशन के इंस्पेक्टर इंचार्ज मनोज राउत ने बताया कि सोमनाथ सेठी, जो राज्य सरकार में ड्राइवर का काम करते थे, और उनकी पत्नी ने 2012 में अपने 24 साल के बेटे को खोया था। जिसके बाद सोमनाथ की पत्नी डिप्रेशन में चली गई थी। सोमनाथ को ये कहा गया था कि अगर वो एक बच्चा गोद ले लेंगे तो उनकी पत्नी डिप्रेशन से बहार निकल सकती हैं। उन्होनें कहा कि सोमनाथ इसलिए एक बच्चे की खोज कर रहे थें, और आंगनवाड़ी कार्यकर्ता को इसकी खबर थी तो उसने ये सौदा करवा दिया।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।

comments
No Comments