दहेज प्रथा-बाल विवाह के खिलाफ अभियान का असर पटना के छठ घाटों पर भी दिखेगा

दहेज प्रथा-बाल विवाह के खिलाफ अभियान का असर पटना के छठ घाटों पर भी दिखेगा

By: Sudakar Singh
October 23, 11:10
0
.........

Live Bihar Desk : “दहेज लेना देना दोनों अपराध”, “पैसे से खुशियां नहीं खरीदी जाती, रिश्ते प्यार से जुड़ते हैं”, “हम सबका एक ही सपना, शिक्षित और बाल विवाह मुक्त बिहार हो अपना” छठ पूजा पर बिहार सरकारी लोगों को कुछ इस तरह के वाक्यों से को जागरुक करने वाली है। जिला प्रशासन पटना द्वारा गंगा घाटों पर छठ पूजा की तैयारी के साथ-साथ लोगों को बाल विवाह, दहेज प्रथा और खुले में शौच जैसी बुराईयों के खिलाफ भी जागरुक करने की तैयारी कर रहा है।


पटना के घाटों पर इस बार आपकों बड़े-बड़े बैनर और होर्डिंग दिखेंगे। जिसपर लिखा होगा- दहेज लेना और देना दोनों अपराध है। छठ पूजा में आने वाले लोगों को इन बुराईयों के खिलाफ जागरुक करने का सरकार ने अनोखा तरीका निकाला है। नीतीश सरकार बाल विवाह और देहज प्रथा के खिलाफ पूरे बिहार में अभियान चला रही है। दो अक्टूबर को गांधी जी के 148वीं जयंती पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने नव निर्मित बापू सभागार में इस अभियान की शुरुआत की थी।


बिहार में पूर्ण शराबबंदी के बाद नीतीश कुमार का बाल विवाह औऱ दहेज प्रथा के खिलाफ अभियान का दूसरा बड़ा फैसला है। अभियान की शुरुआत करते समय मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने ऐलान किया था कि शराबबंदी की तरह ही बाल विवाह और दहेज के खिलाफ 21 जनवरी को मानव श्रृंखला बनाई जाएगी। फिलहाल लोगों को छठ पूजा के अवसर पर जागरुक करने की तैयारी है।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।
comments