नौ साल पहले आज ही के दिन आतंकी हमले से दहल उठा था मुंबई, पढ़ें हमले से जुड़ी अहम बातें

नौ साल पहले आज ही के दिन आतंकी हमले से दहल उठा था मुंबई, पढ़ें हमले से जुड़ी अहम बातें

By: Sudakar Singh
November 26, 08:11
0
...........

Live Bihar Desk : नौ साल पहले आज ही के दिन मुंबई में सबसे बड़ा आतंकी हमला हुआ था। इस हमले में 166 लोगों को अपनी जान गवानी पड़ी थी। वहीं सैकड़ों लोग घायल हुए थे। इस हमले में कई पुलिसवालें शहीद हुए थें। आज भी इस हमले में मरने वाले लोगों के परिवार वाले उस घटना को याद कर दहल उठते हैं। आइए आपको बताते हैं इस हमले से जुड़ी कुछ अहम बातें।  


1.    26 नवंबर 2008 की शाम कोलाबा के समुद्री तट पर एक बोट से दस पाकिस्तानी आतंकी उतरे, छिपते-छिपाते हथियारों से लैस ये आतंकी नदी के तट पर पहुंचे। 
2.   करीब दस आतंकी कोलाबा की मच्छीमार कॉलोनी से मुंबई में घुसे और तुरंत अपनी घिनौनी करतूतों को अंजाम देने लगे। मच्छीमार कॉलोनी से बाहर निकलते ही ये आतंकी दो-दो की टोलियों में बंट गए।


3.    दो आतंकी प्रसिद्ध यहूदी गेस्ट-हाउस नरीमन हाउस की तरफ, दो आतंकी सीएसटी की तरफ, दो-दो आतंकियों की टीम होटल ताजमहल की तरफ और बाकी बचे दो टीम होटल ट्राईडेंट ओबरॉय की तरफ बढ़ गए।
4.    आतंकियों की पहली टीम में इमरान बाबर और अबू उमर नामक आतंकवादी शामिल थे। ये दोनों लियोपोल्ड कैफे पहुंचे और रात करीब साढ़े नौ बजे जोरदार धमाका किया।


5.    आतंकियों की दूसरी टीम में अजमल आमिर कसाब और अबू इस्माइल खान शामिल थे। दोनों सीएसटी पहुंचे और अंधाधुंध गोलियां बरसाने लगे। इन दोनों आतंकियों ने यहां 58 लोगों को मौत के घाट उतार दिया।
6.    26/11 मुंबई हमले के अकेले जिंोदा पकड़े गए गुनहगार अजमल आमिर कसाब को पूरी कानूनी प्रक्रिया के बाद पुणे के यरवदा जेल में फांसी दी गई थी।


7.    तीसरी टीम (अब्दुल रहमान बड़ा और जावेद उर्फ अबू अली) होलट ताजमहल की तरफ निकल गई थी। होटल के बहादुर कर्मचारियों की सूझबूझ से सभी मेहमानों को होटल से पिछले गेट से बाहर निकाल दिया गया।
8.    होटल ट्राईडेंट ओबरॉय में आतंकियों की एक टीम रिसेप्शन पर पहुंची और अचानक अंधाधुंध गोलीबारी शुरू कर दी। इस गोलीबारी में होटल के 32 मेहमानों की जान चली गई।


9.    महाराष्ट्र एटीएस के प्रमुख हेमंत करकरे, पुलिस अधिकारी विजय सालस्कर, आईपीएस अशोक कामटे और कॉन्स्टेबल संतोष जाधव आतंकियों ने लोहा लेते समय इस हमले में शहीद हो गए।
10.    राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड्स (एनएसजी) और आतंकिीयों के बीच हुई लंबी मुठभेड़ में 9 आतंकी मारे गए और दसवें आतंकी अजमल कसाब को जिं दा पकड़ लिहया गया।
 

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।
comments