पटना के प्रॉपर्टी डीलर का हत्यारा गिरफ्तार, खुद को बताता था सुप्रीम कोर्ट के जज का बेटा

पटना के प्रॉपर्टी डीलर का हत्यारा गिरफ्तार, खुद को बताता था सुप्रीम कोर्ट के जज का बेटा

By: Anurag Goel
January 13, 01:01
0
...

LIVE BIHAR DESK : पटना के प्रॉपर्टी डीलर प्रवीण विश्वकर्मा की मर्डर केस में क्राइम ब्रांच की टीम ने मुख्य आरोपी वरूण उर्फ वर्धमान और उसके साथी को गजेंद्र उर्फ टिल्लू को फरीदाबाद में अरेस्ट कर लिया गया  है। पुलिस की माने तो आरोपी बाउंसरों के साथ महंगी गाडियों में चीफ जस्टिस बेटा का बनकर घूमता था। पूछताछ में मुख्य आरोपी वरूण ने बताया कि उसे शुरू से ही बॉलीवुड सेलिब्रिटिज की लाइफ स्टाइल काफी पंसंद थी।

गिरफ्तार आरोपी ने पटना के गांव बैरिए और थाना सम्पाचक के रहने वाले प्रॉपर्टी डीलर प्रवीण को 29 नंवबर को फ्लाइट से दिल्ली बुलाया और फरीदाबाद में सूरजकुंड-पाली रोड पर पेट में दो गोली मारकर हत्या कर दी थी।


खुद को सुप्रीम कोर्ट के जज का बेटा बताता था आरोपी 
पुलिस पूछताछ के दौरान आरोपी ने चौंकाने वाले खुलासे किये हैं। आरोपी पूरे देश में वॉकी -टॉकी वाले बाउंसरों के साथ महंगी गाडियों में चीफ जस्टिस सुप्रीम कोर्ट का बेटा बनकर घूमता था। आरोपी को चमक धमक वाली दुनियां में जीना पंसद था, इसलिये इसने मुम्बई में संजय दत्त और राज कुंद्रा जैसे फिल्मी सितारों के साथ भी व्यापार में शेयरिंग करने की बात रखी। आपको जानकर हैरानी होगी कि अय्याशी में डूबे आरोपी ने अपने घर की पूरी जमीन 94 लाख रुपये में बेची और उन पैसों से मौज मस्ती करता रहा।

प्रॉपर्टी डीलर को क्यों उतारा मौत के घाट?
दरअसल जिस जमीन को बेच कर वरुण अय्याशी कर रहा था। उस जमीन के खदीदारों को मालिकाना हक मिला ही नहीं था, जिसकी वजह से खरीददारों ने वरुण के पिता को 94 लाख रुपये का हिसाब ब्याज सहित थमा दिया। अपने पिता की बेइज्जती वरुण से बर्दाश्त नहीं हुई। इस बीज उसने ये सौदा करवाने वाले पॉपर्टी डीलर प्रवीन को मौत के घाट उतारने की सोची।  प्रवीण को वरुण ने पटना से फरीदाबाद बुलाया और गोली मारकर उसकी हत्या कर दी।

लग्जरी लाइफ जीता था वरुण
वरुण ने दिल्ली के पॉश एरिया द्वारका में फ्लैट ले रखा है। घर में ऐशो आराम की सभी चीजें मौजूद थीं। पुलिस को पूछताछ में बताया कि वो 10-10 हजार कीमत की लड़कियां मंगाकर खूब मौज-मस्ती करता था। उसे बड़े-बड़े होटलों में जाकर खाने का भी खूब शौक था। अपने चार बाउंसरों को रोज हजार से 1200 रुपए देता था।

नहाने से पड़ते हैं आरोपी को दौरे
क्राइम ब्रांच डीएलएफ के इंचार्ज अशोक कुमार ने बताया कि मुख्य आरोपी वरुण महीने भर तक नहाता नहीं है। क्योंकि उसे पानी से एलर्जी है। नहाते ही उसके शरीर पर लाल निशान पड़ जाते है। इसके अलावा उसे दौरे भी पड़ते हैं।


 

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।
comments