बिहार का ये पूर्व IPS पहचानता है दाऊद इब्राहिम की आवाज,1994 में की थी बेधड़क बात

बिहार का ये पूर्व IPS पहचानता है दाऊद इब्राहिम की आवाज,1994 में की थी बेधड़क बात

By: Ashok Kumar Sharma
November 14, 10:11
0
PATNA : ...

बिहार के एक पूर्व IPS अफसर ने 1994 में अंडरवर्ल्ड डॉन दाउद इब्राहिम से बेधड़क बात की थी। वे उन गिनती के अधिकारियों में शामिल हैं जो दाऊद इब्राहिम की आवाज को पहचानते हैं। इस चर्चित पूर्व पुलिस अधिकारी का नाम है नीरज कुमार।

नीरज कुमार पटना के रहने वाले हैं। उनके पिता का नाम विश्वनाथ सहाय और मां का नाम पुष्पा सहाय है। नीरज कुमार बचपन से ही पढ़ने में तेज थे। उनकी स्कूली शिक्षा सैनिक स्कूल तिलैया में हुई। फिर दिल्ली के मशहूर सेंट स्टीफेंस कॉलेज से उन्होंने ग्रेजुएशन किया। वे 1976 में IPS के लिए सेल्क्ट हुए थे। वे दिल्ली के पुलिस कमिश्नर भी रहे थे। अब वे पुलिस सेवा से रिटायर हो चुके हैं।

नीरज कुमार को अंडरवर्ल्ड मामलों का विशेषज्ञ माना जाता है। उन्होंने अपनी किताब 'डायल डी फॉर डॉन' में दाऊद गैंग के ढांचे की विस्तार से जानकारी दी है। वे 1993 से 2002 तक सीबीआई में थे। 1993 के मुम्बई बम धमाकों की जांच में नीरज कुमार ने बड़ी भूमिका निभाई थी।

1993 में मुम्बई में 13 सीरियल बम ब्लास्ट हुए थे जिसमें 257 लोग मारे गये थे। इस मामले में दाउद इब्राहिम को मास्टर माइंड मानते हुए प्रमुख आरोपी बनाया गया था। इस मामले की सीबीआई जांच के दौरान नीरज कुमार ने 10 जून 1994 को दाऊद इब्राहिम से फोन पर बात की थी। दाऊद गैंग के मनीष लाला के जरिये ये बातचीत मुमकिन हो पायी थी।

नीरज कुमार के मुताबिक मनीष, दाऊद गैंग में लॉ मिनिस्टर की हैसियत रखता था। उसके पास कानून की डिग्री तो नहीं थी लेकिन उसे केस मुकदमों के दफाओं की बहुत अच्छी जानकारी थी।

मनीष के जरिये दाऊद फोन लाइन पर आया तो नीरज कुमार ने उससे कहा कि बिना डरे-झिझके वह अपनी बात रखे। इस पर दाऊद ने उनसे सवालिया लहजे में पूछा कि क्या आपको लगता है कि मुम्बई बलास्ट मैनें कराये हैं ?  तब नीरज कुमार ने कहा कि सवाल के बदले जवाब दीजिए, सवाल मत पूछिए। दाऊद से कुछ जानकारी उगलवाने के लिए ये बातचीत कई घंटों तक जारी रखी गयी और इसे रिकॉर्ड भी किया गया। इस बातचीत में दाऊद ने कई बार कहा कि वे मुम्बई सीरियल ब्लास्ट में शामिल नहीं  रहा। लेकिन सीबीआई के पास उसके  खिलाफ कई अहम सबूत थे।

इसके बाद 20 जून और 24 जून 1994 को नीरज कुमार की दाऊद से फिर बात हुई थी। मनीष लाला ने दाऊद के सरेंडर करने की संभावना पर भी बात की थी। लेकिन उसने यकीन के साथ इस पर कुछ नहीं कहा। नीरज कुमार की दाऊद के साथ तीन बार बातचीत हो चुकी थी। लेकिन इंटेलिजेंस एजेंसियों के कहने पर ये बातचीत रोक दी गयी थी।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।
comments