शांति और अध्यात्म का गवाह बना गांधी मैदान

  • 05 Jan, 2017
  • priti singh

PATNA: आस्था और श्रद्धा का जनसैलाब बुधवार को गांधी मैदान में उमड़ा। एक तरफ देश-विदेश के कीर्तन जत्थे को सुन संगत निहाल हुआ तो दूसरी ओर एक लाख से अधिक लोगों ने लंगर छका।

दरबार हॉल के अंदर कीर्तन के बीच शांति और अध्यात्म का समागम दिखा। गुरु महाराज की जीवनी और उन पर आधारित कीर्तन को सुन श्रद्धालु धन्य हुए। रात 12 बजे तक अरदास, कीर्तन दरबार और कवि दरबार सजा।
अमृतसर, गुरदासपुर, दिल्ली, जालंधर, मुंबई, नांदेड़ और यूके से आए गुरु नानक निष्काम सष जत्थे को सुन श्रद्धालु आत्मविभोर हुए। कार्यक्रम की शुरुआत आसा जी की वार, भाई राम सिंह हजूरी रागी, तख्त श्री केशगढ़ साहिब, श्री आनंदपुर साहिब से सुबह चार बजे हुई।
इसके बाद लगातार कीर्तन दरबार और कवि दरबार का दौर चला। भाई कुलदीप सिंह, हजूरी रागी, सचखंड श्री हरिमंदिर साहिब, अमृतसर, भाई हरजीत सिंह हजूरी रागी जत्था, गुरुद्वारा बंगला साहिब, हजूरी रागी, सचखंड श्री हरिमंदिर साहिब, अमृतसर ने कीर्तन दरबार में कीर्तन गाया। वहीं शाम में प्रेम सिंह पारस, अमरजीत सिंह अमर आदि ने संगत किए।
 
 

Leave A comment

यह भी देखेंView All