4 व्यापारियों के खातों की आयकर जांच, 18 करोड़ की टैक्स चोरी पकड़ी गयी

  • 05 Jan, 2017
  • Shashank Kumar

पटना: नोटबंदी के बाद एक करोड़ या इससे ज्यादा रुपये जमा होनेवाले बैंक खातों की आयकर विभाग ने जांच तेज कर दी है।

इस क्रम में मुजफ्फरपुर और नवगछिया के चार व्यापारियों के खातों की जांच की गयी। मुजफ्फरपुर के राज एग्रोकॉम प्राइवेट लिमिटेड के यहां आयकर की टीम ने छापेमारी की। राज एग्रोकॉम मुरगी दाना का निर्माण करती है, जिसकी सप्लाइ बिहार के अलावा यूपी तक होती है। इसके मुजफ्फरपुर स्थित खाते में नोटबंदी के बाद सवा तीन करोड़ रुपये जमा किये गये।
जब आयकर की टीम इस व्यापारी के यहां गयी, तो जांच में 18 करोड़ की गड़बड़ी सामने आयी। कंपनी की स्टॉक बुक और टैक्स पेमेंट में काफी अंतर पाया गया। काफी बड़ी मात्रा में ऐसा माल बरामद हुआ, जिसमें टैक्स का कोई पेमेंट ही नहीं किया गया था। इसके अलावा नवगछिया में तीन किराना होलसेल व्यापारी रामजानकी ट्रेडर्स, हनुमान ट्रेडर्स और उमा ट्रेडर्स के खातों में नोटबंदी के बाद करीब तीन करोड़ रुपये जमा किये गये। इसको लेकर तीनों व्यापारियों के यहां आयकर की टीम ने पहुंच कर पूरे मामले की छानबीन शुरू कर दी है। इनके खातों में जमा हुए रुपये की जांच और व्यापारियों से इसके स्रोत को लेकर जांच चल रही है। इसमें गड़बड़ी की आशंका जतायी जा रही है। 
 
शुरुआती पूछताछ में सभी व्यापारी खातों में जमा हुए रुपये का स्रोत बताने में असमर्थ रहे। फिलहाल इनके खातों को फ्रीज करके जांच की जा रही है। ब्लैक मनी साबित होने पर ये रुपये जब्त हो जायेंगे। अब तक की जांच में हनुमान ट्रेडर्स के खाते में 1.30 करोड़ और उमा ट्रेडर्स के खाते में एक करोड़ से ज्यादा के बिना हिसाब वाले रुपये का पता चल चुका है।

Leave A comment

यह भी देखेंView All