चिकित्सकों की कमी से मरीजों के इलाज में हो रही देरी

  • 05 Jan, 2017
  • Anish kumar
  • Chandramani

JEHANABAD : शहर के सदर अस्पताल में बेहतर चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने का दावा तो किया जा रहा है लेकिन संसाधनों की कमी अभी भी दिख रही है। इससे मरीजों का समुचित इलाज नहीं हो पा रहा है।

हालांकि सदर अस्पताल सहित अन्य स्वास्थ्य केन्द्रों में सुविधाएं बढ़ाई जा रही है। जबकि विभागीय सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार अप्रैल से नवम्बर 2017 तक सदर अस्पताल के इंडोर में 16771 मरीजों का इलाज हुआ। इस दौरान संसाधनों के अभाव व विशेषज्ञ चिकित्सकों की कमी के कारण बेहतर इलाज के लिए 1412 से अधिक मरीजों को रेफर कर दिया गया।
इस संदर्भ में सदर अस्पताल के उपाधीक्षक डॉ विजय कुमार झा ने बताया कि सुविधाएं धीरे-धीरे बढाई जा रही है। हालांकि चिकित्सकों की कमी के कारण थोड़ी कठिनाईयां होती है। विशेषज्ञ चिकित्सकों का अभाव है। इसके लिए वरीय पदाधिकारियों को पत्राचार किया गया है। जल्द ही सुविधा बहाल की जाएगी। इधर, डॉक्टरों के होने के बावजूद मरीज के परिजन खुद ही इलाज करने को बेबस है।
बता दें कि परिजन खुद से ही ड्रेसिंग व ऑक्सीजन लगाने को मजबूर है। वहीं डॉक्टर व मौजूद चिकित्सक कर्मियों की उदासीनता का यह हाल है कि अस्पताल में मरीज भर्ती है। लेकिन इलाज को कोई डॉक्टर नहीं आया।
परिजनों ने डॉक्टर व कर्मियों के पास गुहार लगाते रहे लेकिन नहीं आए कोई इलाज करने।अंततः मरीज की जान बचाने के लिए परिजन को खुद से ही ऑक्सीजन लगाना पड़ा। जबकि ड्यूटी पर मौजूद कर्मी आपस में गप्पे लगाते रहे।
वहीं इस बात की शिकायत अस्पताल के उपाधीक्षक B K झा से की गई, तो उन्होंने अस्पताल कर्मियों को आदेश दिए।बावजूद इसके कर्मचारी खानापूर्ति ही करते रहे। बहरहाल इस घटना की न तो जिला प्रशासन को कोई खबर और ना ही अस्पताल प्रशासन को है। 

Leave A comment

यह भी देखेंView All