एक क्लिक पर मिल जाएगी अपराधियों की पूरी कुंडली

  • 05 Jan, 2017
  • Sanjeev kumar

BUXAR(SANTOSH KUMAR): माउस के एक क्लिक से बिहार सहित अनुमंडल इलाके के शातिर अपराधियों की जानकारी मिल जायेगी़। नये साल में डुमरांव थाना को डिजिटल संसाधनों से लैस किया जायेगा़।

डिजिटल से लैस होने के बाद पीड़ित अपनी प्राथमिकी आन लाइन दर्ज करा सकते हैं। इसके लिए केन्द्र सरकार के नोडल एजेंसी (नेशनल क्राइम रिकाड ब्यूरो) को काम पूरा करने का निर्देश मिला हैं। बिहार में क्राइम एड क्रिमनल नेटवर्क एंड ट्रैकिंग के नाम से विभागीय प्रोजेक्ट चलाया गया हैं। मार्च के अंत तक डुमरांव पुलिस स्टेशन भी इस प्रोजेक्ट से जुड़ जायेगा। पुलिस विभाग को नेटवर्किंग के जरिये आसानी से देश के कोने-कोने से कुख्यात अपराधियों की जानकारी मिल सकती हैं। इसमें अपराधियों के फोटो व बायोडाटा शामिल रहेगा। साइबर क्राइम व अन्य मामलों के अपराधिक मामले की आनलाइन प्राथमिकी दर्ज होगी।
- प्रताड़ना पर लगेगी लगाम
अक्सर पुलिस पर हिरासत में प्रताड़ित करने का आरोप लगता है। इस पर रोक लगाने के लिए थाने के हाजत में भी सीसीटीवी कैमरे लगाये जायेगें। इसके अलावे कामकाज निपटाने के स्थल, मुख्य गेट, थानेदार कार्यालय आदि में भी लगाने की योजना बनायी गयी है। इसके जरिये पुलिस के व्यवहार पर भी नजर रखी जायेगी़। सीसीटीवी कैमरे का कंट्रोल रूम स्थानीय थाना के अलावे जिला मुख्यालय में भी होगा। विभाग इसके रिकार्ड को एक साल तक सुरक्षित रखेगा ताकि वक्त आने पर इसकी जांच करायी जा सके। कैमरे के बंद होने या खराब होने पर थानेदार व जवानों पर कारवाई भी होगी़।
- कार्यशैली में झलकेगी पारदर्शिता
डीएसपी कमलापति सिंह ने बताया कि डुमरांव थाना को डिजिटल लैस करने की पहल की गयी है। मार्च तक काम पूरा होने के आसार है। इस सेवा से पुलिस कायशैली की पारदर्शिता झलकेगी़। पुलिस-पब्लिक मैत्री को बढावा मिलेगा़। कांडों के निष्पादन में तेजी के साथ पीड़ितों को भी कार्रवाई की जानकारी मिलने में सुविधा होगी।

 

Leave A comment

यह भी देखेंView All