ठंड में गर्मी देगी बाजरे की रोटी, बीमारियों से बचे रहेंगे

  • 06 Jan, 2017
  • Abhijna verma

RANCHI : हम सभी के घरों में आमतौर पर गेहूं के आटे की रोटियों बनाई और खायी जाती है। लेकिन क्‍या आपने कभी बाजरे की रोटी खाई हैं अगर नहीं तो इन सर्दियों में जरूर ट्राई करें। क्‍योंकि कुछ अनाज शरीर को सबसे ज्यादा गर्मी देते है।

बाजरा एक ऐसा ही अनाज है। साथ हीं बाजरे में मैग्नीशियम, कैल्शियम, मैगजीन, फास्फोरस, फाइबर, विटामिन बी, एंटीआक्सीडेंट आदि पोषक तत्व प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं। इसलिए बाजरा की रोटी खाने से सर्दियों में न केवल आपकी पाचन क्रिया दुरुस्त रहती है बल्क‍ि आप कई तरह की बीमारियों बचे रहते हैं। सर्दियों में जरूर खाएं बाजरे की रोटी ।
दिल की सेहत के लिए बेहतर
बाजरे की रोटी सर्दियों में दिल के रोगियों को राहत और शक्ति देती है। बाजरे की रोटी में पाया जाने वाला नियासिन नामक विटामिन कोलेस्‍ट्रॉल को कम करने में मदद करता है जिससे दिल से जुड़ी बीमारियों के होने का खतरा कम होता है। साथ ही ये मैग्नीशियम और पोटैशियम के भी अच्छे स्रोत होते हैं जो आपके ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखने में मददगार हैं।

हड्डियों की मजबूती के लिए
बाजरे की रोटी हड्डियों को मजबूत बनाने का एक सरल और बेहतर विकल्प है। बाजरे की रोटी में भरपूर मात्रा में कैल्शियम होता है, इसलिए बाजरे की रोटी का सेवन करने से हमारी हड्डिया मजबूत होती है। और कैल्शियम की कमी से पैदा होने वाला रोग यानी आस्टियोपोरोसिस की संभावना कम करता है।
एनर्जी का बेहतरीन स्रोत
सर्दियों के दिनों में एनर्जी का लेवल थोड़ा कम हो जाता है लेकिन बाजरे की रोटी खाने से शरीर में ताकत और एनर्जी आती है। बाजरा मुख्य तौर पर स्टार्च से बना होता है और इसके सेवन से शरीर को अधिक मात्रा में एनर्जी मिलती है और आपका शरीर अंदर और बाहर दोनों तरह से ऊर्जावान रहता है।

पाचन क्रिया को दुरुस्त रखें
बाजरे में भरपूर मात्रा में फाइबर पाए जाते हैं जो आसानी से पच जाता है और पाचन क्रिया को दुरुस्त रखने में मददगार होते हैं। कब्ज और गैस से हर इंसान परेशान रहता है और यह पेट की मुख्य बीमारी है। कब्ज और गैस की समस्या को ठीक रखने के लिए बाजरे के आटे की रोटी खाएं। बाजरे की रोटी को खाने से कब्ज की समस्या नहीं होती है। 

Leave A comment

यह भी देखेंView All