निखिल प्रियदर्शी की मुश्किलें नहीं हो रही कम,विक्टिम पहुंची महिला आयोग

  • 09 Jan, 2017
  • priti singh

PATNA: ऑटो मोबाइल कारोबारी निखिल प्रियदर्शी की मुश्किलें कम नहीं हो रही हैं। पूर्व मंत्री की बेटी से यौन शोषण के आरोप से घिरे निखिल फिलहाल फरार हैं। मामले की शिकायत पीडि़ता ने अब राष्ट्रीय महिला आयोग से की है।

इससे पहले पीड़िता राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग का दरवाजा भी खटखटा चुकी है। आयोग ने इस संबंध में संज्ञान लेते हुए डीजीपी को पत्र लिखकर 15 दिनों के अंदर कार्रवाई करने का निर्देश भी दिया है।
पीड़िता 164 के तहत बयान भी दर्ज हो चुका है और मेडिकल टेस्ट भी करवाया गया है। राज्य के वरीय अधिकारियों पर आरोप : पीड़िताने राष्ट्रीय महिला आयोग को दिए आवेदन में सूबे के वरीय अधिकारियों पर भी आरोप लगाया है।
आवेदन में कहा गया है कि निखिल को राज्य के वरीय पुलिस अधिकारियों के इशारे पर बचाने की कोशिश की जा रही है। यही कारण है कि अबतक उसे गिरफ्तार नहीं किया गया है। निखिल पूर्व आईएएस का बेटा है और एक सीबीआई अधिकारी का संबंधी है।
इस कारण पूरी व्यवस्था उसे बचाने में लगी है। पीडि़ता ने आयोग से शिकायत की है कि मामला दर्ज कराने के बाद से उसे निखिल वॉट्स एप पर जान से मारने की धमकी दे रहा है। पीड़िता ने आयोग को लिखे पत्र में निखिल पर देह व्यापार में शामिल होने का भी आरोप लगाया है।
पीड़िता ने कहा है कि निखिल उसके साथ कई महीनों तक रेप करता रहा। उसके पास कई वीडियो भी हैं जिसे दिखाकर वह उसे अबतक ब्लैकमेल कर रहा था। साथ ही निखिल पर पोर्न मूवी बनाने का भी आरोप लगाया है।

पूर्व मंत्री की बेटी ने दिसंबर के आखिरी हफ्ते में एससी/एसटी थाने में निखिल प्रियदर्शी पर यौन शोषण, जातिसूचक शब्दों के साथ गाली-गलौज करने और जान से मारने की कोशिश करने का आरोप लगाया था।
एफआईआर दर्ज होने के बाद से निखिल फरार है। मामले में कुल चार लोगों को आरोपी बनाया गया था, जिसमें निखिल के पिता और भाई भी हैं।
 

Leave A comment

यह भी देखेंView All