समाज ने साथ नहीं जीने दिया तो मर कर देवर-भाभी ने निभाया अपना वादा...

  • 10 Jan, 2017
  • priti singh

PATNA: समाज की मर्यादा लांघकर दो प्यार करने वाले साथ जी नहीं सकते थे तो साथ मरकर इसका प्रमाण दे दिया कि प्यार कभी मरता नहीं है। पूर्णिया जिले में ये एक अजीब सा प्रेम-प्रसंग का मामला सामने आया है।

प्यार करने की ऐसी सजा, साथ जी नहीं सकते थे तो एक-दूसरे के लिए जान देकर साबित कर दिया कि प्यार कभी मरता नहीं है। घर में शादी होकर आई भाभी तो पहली ही नजर में देवर को उससे प्यार हो गया।
वो मन ही मन उसे चाहने लगा, भाभी ने भी इशारों को समझा और उसके प्यार की दीवानगी को स्वीकार कर लिया। दिन-रात दोनों एक-दूसरे का ख्याल रखते, दोनों एक-दूसरे के साथ जीने-मरने की कसम खाते।
लेकिन उन दोनों का क्या पता था कि एक दिन इसका अंजाम इतना भयानक होगा। दोनों की प्रेम कहानी घरवालों को पता चली तो उन्होंने नजर रखना शुरु कर दिया।
दोनों ने अपने प्यार को पाने के लिए एक-दूसरे से शादी करने की बात सोची और घर छोड़कर भागने का प्लान बनाया। लेकिन जब इसकी भनक घरवालों को लगी तो वे भाभी को जमकर कोसा और इतना भला-बुरा कहा कि वो बर्दाश्त नहीं कर सकी और घर में ही फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली।
उसके बाद देवर ने भी अपने प्राण त्याग दिए। घटना पूर्णिया जिले की है जिसमें प्रेम प्रसंग में देवर और भाभी ने आत्महत्या कर ली। घटना बायसी थाना क्षेत्र के चरैया गांव की है।
मृतक विशाल के भाई सनी के मुताबिक उसके भाई यानि मृतका के देवर विशाल का अपनी सगी भाभी के साथ प्रेम प्रसंग चल रहा था। दोनों ने पहले तो बुधवार को घर छोड़कर भागने की योजना बनाई लेकिन बाद में विशाल वादे से मुकर गया।
इसके बाद भाभी माधुरी ने घर में ही फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। बेटी की मौत के बाद माधुरी के मायके वाले ससुराल वाले को जेल भेजने की धमकी देने लगे और समझौता करने के एवज में पांच लाख रुपये की मांग की गयी।
इससे परेशान हो कर देवर विशाल ने भी रविवार को पेड़ से लटक कर खुदकुशी कर ली। पुलिस फिलहाल मामले की छानबीन कर रही है। बायसी थानाध्यक्ष ने बतया कि विशाल ने मरने से पहले अपना सुसाईड नोट भी लिखा है।
जिसमें लिखा है कि प्रेम-प्रसंग के कारण ही उन दोनों ने खुदकुशी की है। प्रेम-प्रसंग के कारण देवर और भाभी के खुदकुशी करने की घटना से इलाके में कई तरह की चर्चा शुरु हो गयी है।
 

Leave A comment

यह भी देखेंView All