हादसों का दिन रहा सोमवार,तीन बच्चों की मौत, एक को पीट-पीटकर मार डाला

  • 10 Jan, 2017
  • priti singh

PATNA: मुजफ्फरपुर जिले में सोमवार को विभिन्न घटनाओं में चार मासूमों की मौत की हृदयविदारक घटनाएं हुईं। लगातार दूसरे दिन बच्चों पर कहर बरपा। सोमवार को महंथ मनियारी में जहां मामूली विवाद में लोगों ने 9 वर्ष के बच्चे को पीट-पीटकर मार डाला।

 वहीं, अलग-अलग हादसों में तीन अन्य बच्चों की मौत हो गई। गौरतलब है कि रविवार को मीनापुर में अपने ही घर में जहरीली ब्रेड-चाय पीने से 3 बच्चों की मौत हो गई थी जबकि दो का एसकेएमसीएच में इलाज चल रहा है।
शहर के मिठनपुरा थाना क्षेत्र के जगदीशपुरी लेन नंबर 1 में सोमवार की शाम करीब पांच बजे एक प्ले स्कूल का लोहा से बना मेन गेट गिर जाने से 6-6 साल के दो बच्चे दब गए।
हादसे में एक बच्चे की मौत हो गई, जबकि दूसरा गंभीर रूप से जख्मी है। गेट में फंसे दोनों बच्चों को निकालने के दौरान कुछ लोगों को हल्की चोट आई।
बच्चे की मौत से गुस्साए लोगों ने स्कूल के सामने देर शाम तक जमकर हंगामा किया। मिठनपुरा पुलिस ने किसी तरह से समझा-बुझाकर लोगों को शांत कराया।

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार, प्ले स्कूल की गाड़ी शाम करीब पांच बजे स्कूल परिसर में घुसी थी। गेट के बाहर स्कूल से चंद कदम पर स्थित पासवान टोला के आयुष व रोहन उर्फ सन्नी खेल रहे थे।

लोहे का बड़ा गेट बंद करने के दौरान गेट चैनल से उतर गया और दोनों बच्चे दब गए। गेट गिरने की आवाज पर स्कूल के सामने दुकान चला रही महिला मौके पर दौड़ कर पहुंची।
हल्ला होने पर कुछ और लोगों ने पहुंच कर गेट को उठाया। दोनों जख्मी बच्चों को निकाला गया। अस्पताल जाते-जाते आयुष ने दम तोड़ दिया, जबकि सन्नी के कान-आंख व नाक से खून निकल रहा था। सन्नी का बायां पैर भी टूट गया।

आयुष की मौत के बाद उसके परिजन जब शव लेकर पासवान टोला स्थित झोपड़ी में पहुंचे तो स्थानीय लोगों का आक्रोश भड़क उठा। लोग हंगामा करने लगे।

सूचना पर पहुंची मिठनपुरा पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए एसकेएमसीएच भेजा। सुरक्षा के मद्देनजर देर रात तक मौके पर पुलिस कैंप करती रही।

मृतक ननिहाल में परिवार के साथ रहता था। उसके परिवार के लोग मजदूरी कर जीवन यापन करते हैं। जख्मी सन्नी के पिता वीरेंद्र पासवान भी मजदूरी करते हैं।
 

Leave A comment

यह भी देखेंView All