भगवान को भी लगने लगी ठंड, पहनने लगे गर्म कपड‍़े, रहने लगे हीटर में

  • 10 Jan, 2017
  • Abhijna verma

RANCHI : सुबह और रात कड़ाके की ठंड पड़ रही है। ऐसे में दिल्ली के कई मंदिरों में भगवान को गर्म कपड़े पहनाए जा रहे हैं। कई मंदिरों में हीटर के भी इंतजाम किए गए हैं।

रात में देवी-देवताओं का शृंगार करने के बाद उन्हें शॉल और गर्म कपड़ों से ढका जाता है। मंदिरों के पुजारियों और पंडितों का कहना है कि यह भगवान के प्रति श्रद्धा और सेवा भाव जताने का तरीका है। श्रद्धालुओं को इससे खुशी मिलती है। दिल्ली के बड़े मंदिरों में से एक छतरपुर मंदिर में इन दिनों भगवान को ठंड से बचाने के लिए काफी इंतजाम किए गए हैं।
मंदिर के मुख्य पुजारी पंडित लाल शंकर झा ने कहा कि भगवान को शॉल ओढ़ाए गए हैं। साथ ही मंदिर में हीटर भी लगाए गए हैं। कात्यायनी मंदिर, भगवान शिव, हनुमानजी, भगवान कृष्ण, गणेशजी के साथ सभी देवी देवताओं को शॉल ओढ़ाए गए हैं। उन्होंने बताया कि सुबह 5:30 बजे मंदिर का कपाट खुलता है। पंडित जब पूजा कर लेते हैं, उसके बाद 6 बजे मंदिर आम लोगों के लिए खोल दिया जाता है। हर शुक्रवार की रात को मंदिर बंद होने के बाद भगवान को नए गर्म कपड़े पहनाए जाते हैं।
‘भगवान भी परिवार के सदस्य की तरह’ : केशवपुरम में रहने वाले वरुण गुलाटी साईं बाबा के भक्त हैं। उनका का मानना है कि भगवान को न सर्दी लगती है और न ही गर्मी। लेकिन जिस तरह से इंसान अपने शरीर को सर्दियों से बचाने के लिए गर्म कपड़े पहनता है। उसी तरह मैं अपने मन की शांति, सुकून और श्रद्धा के लिए साईं बाबा को गर्म कपड़े पहनाता हूं और शॉल ओढ़ाता हूं। घर में भगवान परिवार के सदस्य की तरह ही हैं। उनके लिए हम शॉपिंग भी करते हैं। उन्होंने कहा कि मैं हर सर्दियों में साईं बाबा के लिए अलग-अलग रंग के शॉल खरीदता हूं।
रंग-बिरंगे शॉल भा रहे हैं भक्तों को: महरौली के योगमाया मंदिर में कई भगवान को शॉल ओढ़ाए गए हैं। कई रंगों और डिजाइन में ये शॉल हैं। मंदिर में भगवान कृष्ण और राधा की शॉल नीले रंग की है, जो बेहद शानदार है। इस पर खास तरह का आर्टवर्क किया गया है। भगवान राम को गुलाबी रंग के फूलों से सजा हुआ शॉल ओढ़ाया गया है। भगवान गणेश को ऐसा शॉल ओढ़ाया गया है। मंदिर में आने वाले श्रद्धालुओं में भी इन डिजाइनर शॉल की खूब चर्चा है।

Leave A comment

यह भी देखेंView All