विश्व हिन्दी दिवस का आयोजन

  • 10 Jan, 2017
  • Chandramani

NALANDA (Kumud Singh) : मध्य विद्यालय ककडिया के परिसर में विद्यालय के चेतना सत्र में विश्व हिन्दी दिवस मनाया गया। इस अवसर पर शिक्षक राकेश बिहारी शर्मा ने बच्चों के बीच अपने संबोधन में कहा कि आज विश्व हिन्दी दिवस है।

वास्तव में विश्व हिन्दी दिवस प्रतिवर्ष 10 जनवरी को मनाया जाता है। इसका मुख्य उद्देश्य है, विश्व में हिन्दी के प्रचार-प्रसार के लिए वातावरण निर्मित‍ करना, हिन्दी के प्रति अनुराग पैदा करना, हिन्दी की दशा के लिए जागरूकता पैदा करना व हिन्दी को विश्व भाषा के रूप में प्रस्तुत करना है।
विश्व में हिन्दी का विकास करने व इसे प्रचारित-प्रसारित करने के उद्देश्य से विश्व हिन्दी सम्मेलन की शुरुआत की गई और प्रथम विश्व हिन्दी सम्मेलन 10 जनवरी 1975 को नागपुर में आयोजित किया गया था।
इसीलिए इस दिन को विश्व हिन्दी दिवस के रूप में मनाया जाता है। हिन्दी भाषा प्रेम, मिलन व सौहार्द की भाषा है। यह मुख्य रूप से ज्यादातर शब्द संस्कृत, अरबी व फारसी भाषा से लिए गए हैं।
यह विश्व की एक प्राचीन, समृद्ध तथा महान भाषा होने के साथ ही हमारी राज्यभाषा भी है। भारत की स्वतंत्रता के बाद 14 सितंबर 1949 को संविधान सभा ने एक मत से यह निर्णय लिया कि हिन्दी की खड़ी बोली ही भारत की राजभाषा होगी।
हिन्दी बोलने वालों की संख्या पूरे विश्व में अंग्रेजी भाषियों की संख्या से अधिक है। इस दौरान विद्यालय के शिक्षक शैलेन्द्र कुमार, शिवेन्द्र कुमार, सुरेश प्रसाद रजक, शैलेन्द्र कुमार विद्यार्थी, अनुज कुमार, सुरेश कुमार, अरविन्द कुमार शुक्ला, बाल संसद के प्रधान मंत्री सोनू कुमार आदि छात्र-छात्रा मौजूद थे।  

Leave A comment

यह भी देखेंView All