शराबबंदी कानून एक सराहनीय पहल है : दलाई लामा

  • 11 Jan, 2017
  • Manish Pandey

GAYA : बोधगया में चल रही 34वीं कालचक्र पूजा का नेतृत्व कर रहे बौद्ध धर्म गुरु दलाई लामा ने कहा कि शराब का सेवन करने से मन व शरीर का नुकसान होता है।

शराब से बीमारी व अन्य तरह की क्षति भी होती है। उन्होंने बिहार में शराबबंदी को एक अच्छा कदम बताया। दलाई लामा ने अन्य देशों से आए श्रद्धालुओं से अपील की कि वे भी शराब का सेवन बंद कर दें। उन्होंने बौद्ध धर्म के उपासकों, उपासिकाओं, भिक्षु व भिक्षुणियों को पंचशील का पाठ पढ़ाया। उन्होंने पंचशील के तहत हत्या, चोरी, व्यभिचार, झूठ व शराब का सेवन वर्जित बताया। 
दलाई लामा कहा कि पिछले दिनों उनकी मुलाकात बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से पटना में हुई थी। सीएम ने उन्हें बताया कि बिहार में शराब पर रोक लगा दी गई है। इस पर उन्होंने उनकी सराहना करते हुए इसे अच्छा कदम बताया। इससे शांति आएगी व नुकसान को रोका जा सकेगा।
दलाई लामा ने विभिन्न देशों के श्रद्धालुओं से भी अपील की कि वे शराब का सेवन बंद कर दें। शराब पीकर लोग नशे में हो जाते हैं। गलत काम करने लगते हैं। इससे समाज को नुकसान होता है। इस कारण किसी की हत्या करने, चोरी करने, गलत आचरण व कार्य करने, झूठ बोलने और शराब का सेवन करने वाले पंचशील का पालन नहीं कर सकते। अतः किसी को भी शराब का सेवन नहीं करना चाहिए।
 

Leave A comment

यह भी देखेंView All