कुवैत में नौकरी दिलाने के नाम पर 200 युवकों ठगा, फिर रातों-रात फरार हो गया

  • 12 Jan, 2017
  • Abhijna verma

JAMSHEDPUR : कुवैत में नौकरी दिलाने के नाम पर 200 युवकों से करीब एक करोड़ रुपए वसूलने वाली खान इंटरप्राइजेज एंड कंसल्टेंसी के संचालक कार्यालय में ताला लगाकर रातों रात फरार हो गए।

ढाई माह पहले यह कार्यालय हावड़ा मोटर स्थित सिटी प्लाजा के फर्स्ट फ्लोर में खुला था। पहले बैच में धनबाद व गिरिडीह के 60 युवकों को कुवैत भेजना था। 7 जनवरी को कुछ युवकों को फ्लाइट पकड़ने लिए दिल्ली बुलाया गया।
युवक दिल्ली पहुंच गए, पर संचालक नहीं पहुंचे। युवकों ने इसकी सूचना धनबाद में अपने परिजनों को दी। परिजन जब कंसल्टेंसी के कार्यालय गए, तो वहां ताला लगा था। लखनऊ के नदीम खान व फूस बंगला निवासी अजहर ने युवकों से रुपए वसूले थे। युवकों के परिजनों ने जब दोनों के मोबाइल पर कॉल किया तो बंद मिला। हंगामे की सूचना पर एसएसपी ने बैंक मोड़ पुलिस को सिटी प्लाजा भेजा।

कार्यालय में लगे बोर्ड में रीजनल कार्यालय लखनऊ गोमती नगर लिखा है। नदीम खान ने कुबैत की दो कंपनियों के लिए वीसा देने के नाम पर वसूली की। दो साल के लिए केडीएल व 6 माह के लिए शटडाउन में नौकरी के नाम पर 40 हजार से 80 हजार रुपए तक लिए। नौकरी की आस में युवकों ने जैसे-तैसे पैसे जुटा कर दिए।

नदीम ने कहा था, केडीएल में नौकरी करने के इच्छुक युवकों की फ्लाइट 11 जनवरी को है। वहीं, शटडाउन में नौकरी करने के इच्छुक युवकों की फ्लाइट 14 जनवरी को। ऑफिस में ताला लगे होने की सूचना मिलते ही शटडाउन के लिए पैसा देने वाले युवक पहुंचकर हंगामा करने लगे।

युवकों के अनुसार, कंसल्टेंसी का ऑफिस मंगलवार शाम पांच बजे तक खुला था। इस दौरान युवकों से रुपए भी लिए गए, लेकिन बुधवार को ताला लटका मिला। ऑफिस में काम करने वाली दो युवती भी पहुंची थी, जिनमें से एक से पुलिस ने पूछताछ भी की।

दिल्ली में फंसे युवकों के परिजन बुधवार को दिनभर परेशान रहे। फंसे युवकों में डिगवाडीह के मुर्शिद अंसारी के तीन भाई, वासेपुर अलीनगर के शरीफ अली जब्बार का बेटा असगर अली उसके तीन दोस्त, केंदुआ चार नंबर के अरबाज के पिता व उनके चार दोस्त शामिल हैं। इन सभी के परिजनों ने जिला प्रशासन और राज्य सरकार से दोषियों पर कड़ी कार्रवाई करने की मांग की है।

शिकायत मिली है कि मिडिल इस्ट में नौकरी देने के नाम पर कई लोगों से पैसा लिया गया है। इनमें से कुछ लोग दिल्ली में फंसे हुए हैं। बैंक मोड़ थानेदार को निर्देश दिया गया है कि शिकायत के आधार पर प्राथमिकी दर्ज कर मामले की जांच करें।
अंशुमान कुमार, सिटी एसपी 

Leave A comment

यह भी देखेंView All