बिहार में लगती है एक ऐसी सभा, जहां बिकते हैं दूल्हे

  • 12 Jan, 2017
  • priti singh

PATNA: अपनी बेटी के लिए अच्छा वर ढूंढना मां-बाप की सबसे बड़ी टेंशन होती है। कई बार तो अच्छा दूल्हा खोजते-खोजते जूतियां घिस जाती हैं। लेकिन बिहार में एक जगह ऐसी भी है जहां से आप अपनी बेटी के लिए मनपसंद दूल्हा खरीदकर ला सकते हैं।

और चंद घंटों में अपनी बिटिया के हाथ पीले कर सकते हैं। सुनकर चौंक गए ना.. लेकिन ये अजब-गजब परंपरा बिहार के मधुबनी की है। यहां के सौराठ में हर साल दूल्हों का मेला लगता है। इस मेले में हर साल दूल्हे बिकने के लिए शामिल होते हैं।
ये मेला सन् 1310 ई. से ही यहां लगता आ रहा है। जहां इन दूल्हों के खरीदार यानी लड़की के मां बाप इस मेले से अपनी बेटी के लिए योग्य वर पसंद करते है। दोनों पक्ष को एक दूसरे के बारे में पूरी तरह जानकारी हासिल करते हैं।
फिर दोनों पक्षों की आपसी सहमति से रजिस्ट्रेशन कराने के बाद शादी कराई जाती है। इस मेले की शुरूआत दहेज-प्रथा को रोकने के लिए मिथिला नरेश हरि सिंह देव ने सन् 1310 ई. में की थी।
मॉडर्न युग में इस मेले का महत्व कम हो गया है। अब इस मेले में ज्यादातर वो ही परिवार शिरकत करते हैं जो कि आर्थिक रूप से काफी कमजोर होते हैं।
 

Leave A comment

यह भी देखेंView All