विवेकानंद युवाओं के प्रेरणास्त्रोत : रामचन्द्र

  • 12 Jan, 2017
  • Chandramani

NALANDA (Parmod Jha) : गिरियक प्रखंड के मध्य विद्यालय गाजीपुर में स्वामी विवेकानंद की जयंती मनायी गयी। उनके तैलीय चित्र पर माल्यार्पित व दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम की शुरुआत की गयी।

भाजपा नेता रामचन्द्र प्रसाद ने छात्र -छात्राओं को संबोधित करते हुए कहा कि स्वामी विवेकानंद युवाओं के प्रेरणा स्त्रोत थे। उनको पूरी दुनिया एक दार्शनिक के साथ शिक्षाविद, ज्ञानी एवं प्रखर वक्ता के रूप में जानती है। उन्होंने कहा कि भारत में हर साल 12 जनवरी को राष्ट्रीय युवा दिवस मनाया जाता है। भारत सरकार ने 1984 में स्वामी विवेकानंद की जयंती पर इसे मनाने की घोषणा की थी।
स्वामी विवेकानंद का जन्म 12 जनवरी 1863 को कोलकाता (तब कलकत्ता) में हुआ था। संन्यास लेने से पहले उनका नाम नरेंद्रनाथ दत्त था। प्रखंड भाजपा अध्यक्ष अविनाश कुमार ने कहा कि रामकृष्ण परमहंस से संपर्क में आने के बाद नरेंद्रनाथ ने करीब 25 साल की उम्र में संन्यास ले लिया।
स्वामी रामकृष्ण परमहंस के देहांत के बाद स्वामी विवेकानंद ने पूरे देश में रामकृष्ण मठ की स्थापना की थी। विवेकानंद को पूरी दुनिया में भारतीय दर्शन और वेदांत का सर्वप्रमुख विचारक और प्रचारक माना जाता है। जन्म दिवस पर छात्राओं के बिच पारितोषिक भी वितरण किया गया।
मौके पर प्रकाश भाई पटेल ,रविराज ,मंटु सिंह के अलावा सभी शिक्षक एवं छात्र -छात्राएं मौजूद थे । इधर, अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की राजगीर इकाई द्वारा स्वामी विवेकानंद जयंती पर रैली निकाली गयी।
इसका नेतृत्व नगर अध्यक्ष जीतेन्द्र कुमार ने की। अभाविप कार्यकर्ताओं ने जेपी चौक से लेकर पटेल चौक तक रैली में भाग लिया। नगर मंत्री बिक्रम कुमार ने कहा कि लोगों को स्वामी विवेकानंद के बताये रास्ते पर चलना चाहिए।
मौके पर सह नगर मंत्री बली यादव, धर्मवीर कुमार, चंदन कुमार, मंजीत कुमार प्रभाकर, चंदन कुमार, राकेश कुमार, कुंदन कुमार, सुरज, नन्दु, सहित अन्य शामिल थे।  

Leave A comment

यह भी देखेंView All