अभी-अभीः तेजस्वी बोले- शिक्षा व्यवस्था का सत्यानाश कर समाज सुधारक बनना चाहते हैं नीतीश 

अभी-अभीः तेजस्वी बोले- शिक्षा व्यवस्था का सत्यानाश कर समाज सुधारक बनना चाहते हैं नीतीश 

By: Sudakar Singh
January 12, 01:01
0
...........

Patna : राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद के बेटे और नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने एक बार फिर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमला बोला है। उन्होंने बिहार में शिक्षा व्यवस्था पर सवाल खड़ा करते हुए मानव श्रृंखला को लेकर हमाल बोला है। उन्होंन ट्वीट कर कहा कि नीतीश कुमार अपने महिमामंडन के लिए मानव शृंखला के नाम पर मानवीय पहलू को दरकिनार कर रहे हैं। वे सरकारी कर्मचारियों और स्कूली बच्चों को कड़ाके की ठंड में परेशान कर रहे हैं। एक तरफ ठंड के कारण प्रशासन ने स्कूलों को 15 तक बंद कर दिया है, वहीं दूसरी तरफ उन्हें सुबह-सुबह कड़ाके की ठंड में खड़ा किया जा रहा है।


तेजस्वी यादव ने आगे लिखा कि बिहार में शिक्षाबंदी कर बाकी हर प्रकार की बंदियों पर कार्य किया जा रहा है। सभी सामाजिक सुधारों की बुनियाद शिक्षा ही है। नीतीश शिक्षा व्यवस्था का सत्यानाश कर समाज सुधारक बनना चाह रहे हैं। उन्होंने कहा कि मानव श्रृंखला में शिक्षकों और छात्रों को भाग लेना ऐच्छिक होना चाहिए ना की अनिवार्य। पूरा बिहार जानता है कि नीतीश चेहरा चमकाने के लिए ऐसा कर रहे है, लेकिन इस कुहासे में आपका चेहरा नहीं दिखेगा। धुंध छंटने दीजिए ताकि आपका चेहरा भी दिख सके और स्कूली छात्रों को परेशानी भी ना हो। 


इससे पहले तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार पर हमला बोलते हुए कहा था कि राज्य सरकार शिक्षा, स्वास्थ्य, रोजगार, विकास, कानून व्यवस्था की लचर स्थिति को लेकर बेबस और लाचार है। उन्होंने सवाल किया कि दहेज विरोधी और बाल विवाह कानून तो पहले से बने थे, लेकिन पिछले 13 वर्षों में उसे कड़ाई से लागू क्यों नहीं किया गया। उन्होंने आरोप लगाया कि अब झूठा श्रेय लेने के लिए कवायद की जा रही है। उनसे आग्रह है कि नादान स्कूली बच्चों का ख्याल किया जाए। उन्होंने कहा कि हम इसके विरोध में नहीं हैं, लेकिन सिर्फ श्रेय लेने के लिए मानवीय पहलू को भूल जाएं इसके पक्षधर नहीं हैं। 


आपको बता दे कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार में दहेज और बाल विवाह के खिलाफ अभियान शुरू किया है। समाज की इन कूरीतियों के खिलाफ 21 जनवरी को पूरे राज्य में मानव श्रृंखला बनाई जाएगी। दहेज और बाल विवाह के खिलाफ बिहार के  लोग 21 जनवरी को सड़कों और गलियों में निकलेंगे और एक दूसरे का हाथ पकड़कर मानव श्रृंखला का निर्माण करेंगे। इससे पहले शराबबंदी को लेकर बिहार के लोग मानव श्रृंखला बनाकर रिकार्ड बना चुके हैं। 
 

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।
comments