गांव में कबड्डी खेलती थी तब लोग हंसते थे, ईरान में जीता गोल्ड मेडल, DM ने किया सम्मानित

गांव में कबड्डी खेलती थी तब लोग हंसते थे, ईरान में जीता गोल्ड मेडल, DM ने किया सम्मानित

By: Sudakar Singh
December 01, 10:12
0
.....

Patna : नामशमा परवीन। उस वक्त 9 वर्ष की थी। बाढ़ के दरियापुर गांव में अपनी तीन बहनों और आस-पड़ोस की कुछ लड़कियों के साथ कबड्डी खेलती। तब गांव के लोग हंसते थे, मजाक उड़ाते थे और ताने मारते थे। जितने लोग उतनी तरह की बातें। इन तमाम बातों के बावजूद कभी पीछे मुड़कर उन बातों पर ध्यान नहीं दी।

आगे बढ़ने की ललक में जिला, राज्य और देश की सरहद को पार कर सफलता की बुलंदियों को छुआ। ईरान में आयोजित एशियन कबड्डी चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल जीत बिहार का नाम रौशन की। आज उन्हीं गांव वालों ने शमा परवीन का स्वागत किया और जिला प्रशासन ने प्रेरणा दूत बनाया है। 


अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बिहार का नाम रौशन करने वाली शमा परवीन को जिलाधिकारी संजय अग्रवाल ने गुरुवार को कलेक्ट्रेट सभागार में प्रेरणा दूत के सम्मान से विभूषित किया। शमां 23 से 26 नवंबर तक ईरान में आयोजित एशियन चैंपियनशिप कबड्डी में गोल्ड मेडल जीत कर आई हैं।

जिलाधिकारी ने कहा कि शमा अन्य लोगों विशेष कर लड़कियों के लिए प्रेरणास्रोत हैं। ग्रामीण परिवेश से अपने प्रतिभा के बल पर खेल जगत में एक मुकाम हासिल किया है। जिसमें आगे बढ़ने की ललक हो उसके लिए जिला, राज्य और देश कोई सरहद नहीं रोक सकता। 
 

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।
comments