गांव के घर-घर में रोजगार की रोशनी बिखर रहीं रीता

गांव के घर-घर में रोजगार की रोशनी बिखर रहीं रीता

By: Manish Pandey
July 01, 07:07
0
PATNA : किशनगंज की दौला पंचायत की 100 महिलाएं रोशनी नामक ग्राम संगठन बनाकर मुर्गीपालन कर रही हैं। गांव में उन्होंने सफलता की नई कहानी गढ़ी है। इसके पीछे हैं संगठन की अध्यक्ष रीता देवी।

वे प्रेरित करती हैं, गाइड करती हैं और कोशिश करती हैं कि उनकी मेंबर के चेहरे पर मुस्कान आए। मुर्गीपालन के लिए बनाए गए मदर यूनिट में हर महीने तीन से चार हजार चूजे विकसित किए जाते हैं। विकसित चूजों को जीविका से जुड़ी दीदियों के बीच कम कीमत पर वितरित किया जाता है। लो इनपुट बट्स यानी कम लागत वाले इन चूजों से मांस और अंडे दोनों रूपों में आर्थिक फायदे मिलते हैं। इस तरह रोशनी ग्राम संगठन मुर्गीपालन के माध्यम से इलाके के सैकड़ों परिवारों को रोजगार दे रहा है। इससे जुड़ी महिलाओं का कहना है कि हर व्यक्ति के चेहरे पर मुस्कान लाना ही उनका मकसद है।

रोशनी की अध्यक्ष रीता देवी का कहना है कि एक बार में कम से कम 300 महिलाओं का रजिस्ट्रेशन कराया जाता है। 28 दिनों तक चूजों को विकसित कर इन महिलाओं के बीच उन्हें कम कीमत पर वितरित किया जाता है। दौला पंचायत की रीता देवी हाल तक दिहाड़ी मजदूरी कर जीवन यापन करती थीं, लेकिन अब वे रॉल मॉडल बन चुकी हैं।

उन्होंने पहले जीविका के माध्यम से अपनी आजीविका चलाने के लिए महिलाओं का समूह बनाया। उसके बाद विभिन्न समूहों को जोड़कर ग्राम संगठन बनाया और मुर्गीपालन के लिए मदर यूनिट लगाई। मुर्गीपालन के जरिए घर-घर मुस्कान बिखेर रही रीता देवी खुद भी आर्थिक रूप से समृद्ध हो रही हैं तथा अन्य महिलाओं को भी इस रोजगार से जोड़कर आर्थिक रूप से मजबूती हासिल करने का मार्ग प्रशस्त कर रही हैं। रीता देवी बताती हैं कि दो बेटे और एक बेटी को अच्छी तरह पढ़ाने की ललक ने रोजगार करने पर मजबूर किया। जीविका तथा पशुपालन एवं मत्स्य संसाधन विभाग की मदद से अगस्त 2016 में इन्होंने मुर्गी फार्म की शुरुआत की।

बीच में ठंड के समय चूजों के लगातार नष्ट होने से थोड़ी मुश्किलें भी आईं, लेकिन धुन के पक्की रीता देवी ने संगठन की कोषाध्यक्ष लीला देवी व सचिव ताराफुल खातून के साथ मिलकर आगे बढ़तीं गईं। इस संबंध में जीविकोपार्जन विशेषज्ञ मुकेश कुमार ने कहा कि जीविकोपार्जन कार्यक्रम के तहत ग्रामीण महिलाओं को रोजगार से जोड़ा जा रहा है। इसी कड़ी में दौला पंचायत की रोशनी समूह की दीदियों ने मुर्गीपालन की मदर यूनिट अगस्त 2016 में प्रारंभ की है। मदर यूनिट में चूजों को विकसित कर विभिन्न समूह की दीदियों को सस्ते दर पर उपलब्ध कराया जा रहा है।  

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।

comments
No Comments