अभी-अभी : भारत पहुंचे अभिनंदन, वाघा बॉर्डर पर हुआ भव्य स्वागत, भारत माता की जय के लगे नारे

PATNA : अभी अभी एक बड़ी खबर सामने आ रही है। विंग कमांडर अभिनंदन भारत आ चुके हैं। पाकिस्तान सरकार ने वाघा बार्डर पर अभिनंदन को भारत के जिम्मे सौंपा दिया। इस अवसर पर सुबह से ही अटारी बार्डर पहुंचे हजारों भारतीय जनता ने अभिनंदन का भव्य स्वागत किया। ढोल नगारे की थाप पर पूरा वातावरण उत्सवी माहौल में बदल गया।

दूसरी ओर बिहार की राजधानी पटना में अभिनंदन की रिहाई को लेकर गजब का माहौल देखा जा रहा है। लोग एक दूसरे को बधाई दे रहे हैं। गुलाल लगा रहे हैं। पटाखे फोड़ रहे हैं। एयर फोर्स में जाने का संकल्प ले रहे हैं। हाथों में झंडा लेकर विजयी जुलूस निकाल रहे हैं7

ताजा अपडेट के अनुसार बॉर्डर पर पूरा माहौल देशभक्तिमय हो गया है। लोग हाथों में राष्‍ट्रीय ध्‍वज लेकर भारत माता की जय और सेना के समर्थन में घोष कर रहे हैं। ढोल की थाप पर लोग तिरंगे के संग नाच-गा रहे हैं। लोगों ने फूलों की मालाएं ले रखी है और विंग कमांडर अभिनंदन के स्‍वागत के लिए पलक पांवड़े बिछा रखे हैं। लोग ‘हाउज द जोश’ का नारा भी लगा रहे हैं। लोगों के घोष से पाकिस्‍तान के सीमांत क्षेत्र की गूंज रहे हैं। चारों ओर देशभक्ति का जोश और जूनून नजर आ रहा है।

Quaint Media, Quaint Media consultant pvt ltd, Quaint Media archives, Quaint Media pvt ltd archives, Live Bihar

बता दें कि विंग कमांडर अभिनंदन बुधवार को अपने मिग 21 विमान से पाकिस्‍तान के लड़ाकू विमान एफ 16 को खदेड़ते हुए गुलाम कश्‍मीर के अंदर चले गए थे। इसी दौरान उनका विमान क्रैश हो गया और वह पैराशूट से नीचे उतर आए, लेकिन पाकिस्‍तानी सेना की पकड़ में आ गए। इसके बाद भारत के दबाव के कारण पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को वीरवार को ऐलान किया कि अ‍भिनंदन को शुक्रवार को रिहा कर दिया जाएगा।

पैराशूट के सहारे सकुशल नीचे उतरे : पीओक के भीम्बर में होर्रा गांव निवासी मोहम्मद रज्जाक चौधरी ने बताया कि बुधवार सुबह 8:45 बजे वह घर में खड़े थे तभी उन्होंने दो विमानों में आग लगते देखा। एक विमान तेज रफ्तार में नियंत्रण रेखा पार करके गिरा जबकि दूसरा विमान आग की लपटों में घिर कर उनके घर के नजदीक गिरा। चौधरी ने बताया कि उसी समय उन्होंने अपने घर से करीब एक किलोमीटर दूर मैदान में एक पैराशूट उतरते देखा। इसके बाद उन्होंने तुरंत गांव के लड़कों को बुलाया और घटनास्थल पर पहुंचे तो देखा कि पैराशूट के सहारे एक पायलट सकुशल नीचे उतरा था। होर्रा गांव नियंत्रण रेखा से 7 किलोमीटर की दूरी पर है।

भारत जिंदाबाद के नारे लगाए : चौधरी ने बताया कि इस दौरान वहां पहुंचे युवकों ने पायलट (अभिनंदन) को घेर लिया। जब पायलट ने उनसे पूछा कि वह भारत में है या पाकिस्तान में। तब युवकों ने उन्हें बताया कि वह भारत में हैं जिसके बाद उन्होंने भारत जिंदाबाद के नारे लगाए और पूछा कि भारत में कौन सी जगह है। चौधरी ने कहा कि वहां मौजूद युवाओं ने भ्रम की स्थिति बरकरार रखी। पायलट ने वहां मौजूद लड़कों से कहा कि उनकी कमर टूट गई है और उन्होंने पीने के लिए पानी मांगा। पर वहां मौजूद कुछ युवा जो पायलट के नारों को बर्दाश्त नहीं कर सके, पाकिस्तानी सेना जिंदाबाद के नारे लगाने लगे। इसके बाद अभिनंदन ने हवा में फायरिंग की और लड़कों ने अपने हाथों में पत्थर उठा लिए।

छोटे से तालाब में कूद गए अभिनंदन : अभिनंदन उसके बाद एक छोटे से तालाब में कूद गए और अपने जेब से कुछ दस्तावेज और मैप निकाले, जिसमें से कुछ को उसने निगलने की कोशिश की और बाकी को पानी में गीला कर बबार्द करने की कोशिश की। अंत में लंबे समय तक पीछा करने के बाद भारतीय पायलट ने आत्मसमर्पण कर दिया। भारतीय पायलट ने यह कहते हुए खुद को उनके हवाले कर दिया कि उसकी हत्या न की जाए। लड़कों ने उसे पकड़ लिया और कुछ ने उसके साथ हाथापाई की, जबकि कुछ अन्य हमलावरों को रोक रहे थे।