सोना लूट काण्ड का पर्दाफाश करने वाली बिहार पुलिस की टीम को कंपनी देगी 30 लाख रुपए का पुरस्कार

PATNA : मुजफ्फरपुर के मुथूट फाइनेंस कंपनी में हुए डकैती मामले की छानबीन के लिए बनी पुलिस टीम को शनिवार रात बड़ी सफलता मिली। घटना में डकैतों ने 11 करोड़ रुपए के सोने और नगदी ले कर भागे थे, जिसमें से करीब एक करोड़ का सोना पुलिस द्वारा बरामद कर लिया गया है। अब इस लूटकांड का पर्दाफाश करने वाले पुलिस कर्मियों को 30 लाख रुपये का पुरस्कार मिलेगा। मुथुट फाइनेंस ने बिहार पुलिस को सम्मानित करने का निर्णय लिया है। कंपनी के आला अधिकारियों ने राज्य के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे से फोन पर बात कर बिहार पुलिस को 30 लाख रुपये का पुरस्कार देने की घोषणा की। इस मामले के उद्भेदन के बाद खुद डीजीपी भी पुकिस कर्मियों को सम्मानित करेंगे। 

गौरतलब है कि मुजफ्फरपुर के 15 पुलिस अधिकारियों की टीम समस्तीपुर, वैशाली व बेगूसराय समेत उत्तर बिहार के कई जिलों में लगातार छापेमारी कर रही थी। लूट में शामिल 3 अपराधियों को भी पुलिस ने दबोचने लिया है। मुशहरी थाने के  प्रह्लादपुर गांव से एक महिला और पुरुष को हिरासत में लिया गया है। बताया जा रहा है की मुथूट फाइनेंस कंपनी में रेकी के लिए आए अपराधी ने मोबाइल नंबर अंकित किया था।

उन नंबरों के आधार पर हिरासत में ली गयी महिला के वैशाली के लालगंज स्थित मायके में छापेमारी की गई। वहां से उसके दो रिश्तेदारों को उठाया गया। पुलिस ने समस्तीपुर में विकास झा के घर पर छापेमारी के दौरान दो लोगों को उठाया। आगे की कार्रवाई उसकी निशानदेही पर की गई। इसके बाद वैशाली और बेगूसराय में अलग अलग जगहों पर छापेमारी कर करीब एक करोड़ रुपए के सोना कि बरामदगी की गयी। पुलिस का कहना है की लूट के बाद लगातार पीछे लग जाने से अपराधियों को सोना छिपाने का मौका नहीं मिल पाया। धराए अपराधियों से पूछताछ के आधार पर अलग अलग जिलों कि आभूषण मंडियों में भी की। पुलिस सूत्रों के अनुसार लूटे गए सोने के कई पैकेट बरामद किए गए हैं। साथ ही कुछ सोना गला दिया गया था, उसे भी बरामद कर लिया गया है। इस सफलता के बाद एसआईटी ने अन्य आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए पूरी ताक़त लगा दी थी । बिहार पुलिस की टीम ने रिकॉर्ड 36 घंटों में पूरी कर ली। डीजीपी भी इसे एक बड़ी सफलता मान रही है। ज्ञात हो कि बीते 6 फ़रवरी को मुजफ्फरपुर के भीडभाड वाले इलाके में लुटेरों ने इस घटना को अंजाम दिया था।