मंत्री बनने के बाद पहली बार बिहार आए नित्यानंद राय, आज मुजफ्फरपुर का करेंगे दौरा

PATNA:  मुजफ्फरपुर में चमकी बुखा’र पीड़ित बच्चों से मिलने के लिए गृह राज्य मंत्री और उजियारपुर के सांसद नित्यानंद राय मुजफ्फपुर जा रहे हैं। आपको बता दें कि लोकसभा चुनाव जीतने और मोदी मंत्रिमंडल में गृह राज्य मंत्री बनने के बाद पहली बार बिहार आए हैं।

मुजफ्फरपुर में चमकी बुखा’र की घट’ना को दुःख’द बताते हुए कहा कि मैं इससे व्यक्तिगत तौर पर आहत हूं। केन्द्र और राज्य सरकार भी इसको लेकर गंभीर है। मैं भाजपा के कार्यकर्ताओं से अपील करता हूं कि वे लोग अगले 15 दिनों के लिए चमकी बु’खार से म’रे बच्चों को सच्ची श्रध्दाजंलि देने के लिए कोई भी स्वागत कार्यक्रम नहीं करें।

आपको बता दें कि मुजफ्फरपुर में चमकी बुखा’र के कारण अबतक 70 से ज्यादा बच्चों की मौ’त हो चुकी है, लेकिन इन मर’ते बच्चों की सुध लेने वाला कोई नहीं है। 13 जून को केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन मुजफ्फरपुर का दौ’रा करने वाले थे, लेकिन ऐन मौके पर दौ’रा रद्द कर दिया। इससे पहले बक्सर के सांसद अश्विनी चौबे ने भी बेतुका बयान देते हुए कहा था कि लोकसभा चुनाव में अधिकारी व्यस्त होने के कारण जागरुकता अभियान सही समय पर नहीं चलाया जा सका।

जागरुकता में कमी रह गयी-MANGAL PANDEY

हालांकि 14 जून को बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने मुजफ्फरपुर का दौरा किया और स्थिति का जायजा लिया। मंगल पांडेय ने कहा कि इसबार चमकी बु’खार के प्रति जागरुकता में कमी रह गयी। उन्होंने कहा कि पिछले साल जागरुकता अभियान चलाया गया था, जिसके कारण एक भी बच्चों की मौ’त नहीं हुई थी। इतना ही नहीं, दो साल पहले दो-चार बच्चों की मौ’त हुई थी, लेकिन इसबार सही समय पर जागरुकता अभियान नहीं चलाने के कारण इस बीमा’री का कहर छा गया है।

मंगल पांडेय ने कहा है कि सरकार चमकी बु’खार के कहर से निपटने के लिए सरकार दो स्टेज पर काम कर रही है। पहला लोगों को इस बीमारी के प्रति जागरुक करना और दूसरा बीमार बच्चों की इलाज करना। विभाग इन कामों में जुट चुकी है।