पहली पत्नी रंजना झा के कारण पटना में सरेआम अपमानित हुए थे BOLLYWOOD गायक उदित नारायण

पहली पत्नी रंजना झा के कारण पटना में सरेआम अपमानित हुए थे BOLLYWOOD गायक उदित नारायण

By: Roshan Kumar Jha
July 11, 10:51
0
....

JITENDRA NATH JITU : पहली बार उदित नारायण की पहली पत्नी के बारे में इंडिया टुडे में न्यूज प्रकाशित हुआ था कि उदित नारायण की दो बीवियां है रंजना झा और दीपा नारायण. रजना झा के साथ उदित की तस्वीर छपी थी. उस रिपोर्ट में कहा गया था कि रंजना झा से किसी बाहरी लोगो से मिलने नहीं दिया जाता है. इस के बाद बिहार के एक रिपोर्टर महाशंकर ने रंजना झा पर एक बड़ी स्टोरी की थी राष्ट्रीय प्रसंग पत्रिका के लिए. जिसमे इस शादी के बारे में लम्बी रिपोर्ट प्रकाशित हुई थी. बाद में एक चैनल रिपोर्टिंग के लिए उदित के गांव गयी और उदित के परिवारवालों ने उनलोगों से हाथापाई की थी.

बात आयी गयी हो गयी. ये मामला तब सुर्ख़ियों में आया जब रंजना झा ने पटना के एक होटल में जहाँ उदित ठहरे थे वहां मीडिया को लेकर पहुंची और उन पर आरोप लगाया जिसके कारण उनकी काफी फजीहत हुई. इस घटना के बाद पहली बार उदित दुनिया के सामने एक्सपोज हुए. गायकी के कारण उदित का काफी सम्मान था. लेकिन इस घठना के कारण उनकी काफी बेइज्जती हुई. लोगों ने काफी उन्हें बुरा- भला कहा. रंजना झा ने उन पर आरोप लगाया कि वो उन्हें पत्नी का दर्जा क्यों नहीं देते. उदित की मजबूरी थी या कुछ और वो रंजना झा को पत्नी मानने के लिए तैयार नहीं थे. जिसके कारण रंजना झा को ये सब करना पड़ा. उन्होंने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया और उन पर बिना तलाक दिए दुसरी शादी करने का आरोप लगाया. कोर्ट ने उन्हें दोनों बीवियों को साथ रखने का आदेश दिया था. तकरीबन चार महीने तक ये मामला चला और उदित को रंजना झा को अपनी बीवी मानना पड़ा .

कहते हैं कि उदित के संघर्ष के दौरान दीपा ने उन्हें काफी मदद की. रंजना झा से शादी से पहले से ही प्रेम था. उस एहसान के सामने उदित ने समपर्ण किया और दीपा से शादी की. दोनों का एक बेटा भी है आदित्य नारायण. रंजना झा को आपति इस बात से थी कि उदित उन्हें पत्नी का दर्जा क्यों नहीं देते. जिसके कारण रंजना झा बहुत दुखी रहती थी. मजबूर होकर उन्हें कानून की शरण में जाना पड़ा.

उस समय महिला आयोग की अध्यक्ष मंजू प्रकाश के मुताबिक- उदित और रंजना दोनों ने अपने बीच विवादों को हल करने के लिए लिखित रूप से एक समझौता किया .इसमें उदित ने रंजना को अपनी बीवी का हक देने पर सहमति जताई. और इस सहमति पर रंजना की भी रजामंदी है। अब इस दंपती में किसी तरह का कोई मतभेद नहीं रह गया है। यह इन दोनों पर निर्भर है कि वे साथ रहें या अलग। इसके बाद रंजना झा का ब्यान आया था कि आखिरकार मुझे न्याय मिल गया है और अगर दीपा चाहें तो वह हमारे साथ रह सकती हैं। लेखक- जितेंद्र नाथ जितु, मुम्बई

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।
comments