ड्राइविंग लाइसेंस को भी किया जायेगा आधार कार्ड से लिंक, नया कानून ला रही सरकार

Patna: देश में मोदी सरकार नया कानून ला रही है। इसके तहत ड्राइविंग लाइसेंस को आधार कार्ड से लिंक किया जायेगा। इससे घटना के बाद चालक कानून के शिकंजे से बाहर नहीं जा सकेंगे। ‘सारथी-4’ नाम के इस सॉफ्टवेयर के तैयार होने के बाद सभी लोगों को अपने ड्राइविंग लाइसेंस को आधार से लिंक करवाना होगा।

तो वहीं सरकार आधार कार्ड से आपके ड्राइविंग लाइसेंस को लिंक करने की कई वजह गिना रही है। इसमें से एक वजह को जानना बेहद जरूरी है और इसके फायदे होना भी तय है। दरअसल, कई लोग अपने ड्राइविंग लाइसेंस का डुप्लीकेट बनवा लेते हैं। इसके गलत इस्तेमाल की भी आशंका रहती है। सरकार इसे रोकना चाहती है। सरकार का दावा है कि अगर ड्राइविंग लाइसेंस को आधार कार्ड से लिंक करा दिया जाएगा तो वाहन चालक की सही पहचान तय की जा सकेगी। उदाहरण के लिए कोई व्यक्ति एक्सीडेंट के बाद घटनास्थल से भाग जाता है और फिर वो एक नया ड्राइविंग लाइसेंस हासिल कर लेते है तो लिंकिंग के बाद वो ऐसा नहीं कर पाएगा। दरअसल, जब ड्राइविंग लाइसेंस को आधार से लिंक कर दिया जाएगा तो पुतलियों और आंखों के निशान यानी बॉयोमीट्रिक्स नहीं बदले जाएंगे। अगर कोई शख्स ऐसा करता है तो वो आसानी से पकड़ा जाएगा। यानी नाम तो बदला जा सकता है लेकिन पहचान नहीं। ऐसे में संबंधित विभाग दूसरे विभाग को चंद मिनट में ही ये बता पाएंगी कि कोई शख्स दूसरा ड्राइविंग लाइसेंस बनवा रहा है।

अब सवाल ये है कि आधार को ड्राइविंग लाइसेंस से कैसे लिंक करें। इसके दो आसान तरीके हैं। पहला तो यही कि आप संबंधित RTO ऑफिस जाएं और वहां से Aadhaar-driving licence linking कराएं। दूसरा तरीका है कि आप संबंधित विभाग की वेबसाइट पर जाएं। वहां लिंक आधार ऑप्शन को सिलेक्ट करें। यहां अपना ड्राइविंग लाइसेंस नंबर डालें। अब आपके सामने डीटेल्स होंगी। यहां अपना 12 अंकों वाला आधार नंबर दर्ज करें। इसके साथ ही आपको वो मोबाइल नंबर भी दर्ज करना होगा जो रजिस्टर्ड है। इसके बाद सबमिट करें। कुछ ही देर में कन्फर्मेशन का मैसेज आपके फोन पर आ जाएगा। ‘सारथी-4’ नाम के इस सॉफ्टवेयर के तैयार होने के बाद सभी लोगों को अपने ड्राइविंग लाइसेंस को आधार से लिंक करवाना होगा। बीते दिनों सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में भी इस बारे में सूचना दी है। इस सॉफ्टवेयर में देशभर के ड्राइविंग लाइसेंस धारकों का रिकॉर्ड रखा जाएगा। इस सिस्टम के लागू होने के बाद ड्राइवर की तरफ से किए गए ट्रैफिक उल्लंघन का भी पूरा रिकॉर्ड सॉफ्टवेयर में होगा।

About Vishal Jha

I am Vishal Jha. I specialize in creative content writing. I enjoy reading books, newspaper, blogs etc. because it strengthened my knowledge and improve my presentation abilities

View all posts by Vishal Jha →