लालू द्वारा जेल से किये जा रहे ट्वीट पर JDU प्रवक्ता ने उठाया सवाल, की CJI से शिकायत

PATNA: आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के 15 लाख वाले ट्वीट को लेकर जेडीयू के प्रवक्ता अजय आलोक ने चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया रंजन गोगोई से इसकी शिकायत की है। अजय आलोक ने अपने ट्वीट के माध्यम से सीजेआई रंजन गोगोई से इस पर ध्यान देने की बात कही है।

डॉक्टर अजय अलोक ने अपने ट्वीट में लिखा है कि सर सीजेआई रंजन गोगोई जी, कृपया इस पर ध्यान दें कि विडियो अस्पताल से पोस्ट किए जा रहे हैं हालांकि लालू जी कैद में हैं। अब यह विडियो हटा दिया गया है, लेकिन अदालत इसे ट्विटर से पुनः प्राप्त कर सकती है, इसे अनदेखा न करें, अन्यथा सभी कैदियों को जेल से मोबाइल फोन का उपयोग करने की अनुमति दें, कानून सभी के लिए समान है। इसी के साथ ही अजय आलोक ने इस ट्वीट को री ट्वीट करते हुए एक और ट्वीट किया है।

अजय आलोक ने अपने दूसरे ट्वीट में लिखा है कि सर रंजन गोगोई जी सीजेआई कृपया उपाय करें क्योंकि आप लोग हमारे संविधान के संरक्षक हैं और हर कैदी को मोबाइल फोन और सोशल मीडिया का उपयोग करने का प्रावधान करें क्योंकि वे भी इस देश के नागरिक हैं और उन्हें समान अधिकार प्राप्त हैं।

बता दें कि आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव ने ट्वीट कर एक विडियो अपने समर्थकों के साथ शेयर की। इस विडियो में लालू यादव दिखाई दे रहे हैं लेकिन विडियो में आवाज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की है। वह अपने चिरपरिचित अंदाज में कह रहे हैं मेरे प्यारे भाइयों बहनों, अच्छे दिन आ गए, सभी को 15-15 लाख रुपए मिल जाएंगे। दरअसल विडियो में लालू यादव पीएम मोदी की आवाज के साथ उनके भाषण पर तंज कस रहे हैं। इसी ट्वीट को लेकर अजय आलोक ने सीजेआई रंजन गोगोई से शिकायत की और इस ट्वीट पर विचार करने की बात कही है।