भारत का लोकतंत्र हो रहा है बीमार, अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता ख’तरे में है-अजय कुमार सिंह

PATNA: युवा राजद के G.Secretary अजय कुमार सिंह ने उत्तर-प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिला’फ टिप्पणी करने वाले पत्रकार की गिरफ्ता’री के बाद कहा कि हमारे देश भारत में अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता ख़त’रे में है, जो यहां की लोकतंत्र के बीमा’र होने के संकेत देता है।

आपको बता दें कि कुछ दिन पहले योगी के बारे में ट्वीटर पर पत्रकार प्रशांत कनौजिया ने एक आ’पत्तिजनक टिप्पणी की थी। इसी मामले में उत्तर प्रदेश पु’लिस लखनऊ से सिविल ड्रेस में दिल्ली आयी और प्रशांत के दोस्तों से उनका नंबर पूछकर, दिल्ली स्थित उनके घर पहुंच गयी। इस तरह पुलि’स, प्रशांत को 8 जून को घर से गिर’फ़्तार करके लखनऊ ले गयी। लखनऊ के हजरतगंज थाने में प्रशांत के खिला’फ आईटी ऐक्ट की धार 66 और आईपीसी की धारा 500 के तहत योगी की मान’हानि करने के आ’रोप में एफ़आईआर दर्ज किया गया।

यहां सबसे मजेदार बात यह है कि मान’हानि का केस योगी के नाम पर नहीं बल्कि उसी थाने के थानेदार विकास कुमार के नाम पर दर्ज किया गया है। कहने का मतलब यह है कि योगी ने कोई केस नहीं किया है बल्कि प्रशांत की टिप्पणी पर थानेदार ने खुद एक्शन ले लिया। हालांकि योगी ने अभी तक कोई बयान नहीं दिया है।

प्रशांत कनौजिया का ट्वीट-

प्रशांत 6 जून को अपने ट्वीटर अकाउंट पर एक वीडियो शेयर किया, जिसमें लिखा है ‘इश्क छुपाये नहीं छुपता योगी जी’ गौरतलब है कि इस वीडियो में एक महिला खुद को योगी की प्रेमिका बता रही है और दावा कर रही है कि योगी, उनसे पिछले एक साल से वीडियो कॉलिंग पर बात कर रहे हैं। इतना ही नहीं वीडियो में महिला का कह रही है कि वह योगी से मिलना चाहती है।

आपको बता दें कि प्रशांत कनौजिया पत्रकारिता में देश के सबसे प्रतिष्ठित संस्थान भारतीय जनसंचार संस्थान से पत्रकारिता की पढ़ाई की है। कुछ दिनों तक उन्होंने द वायर बेवपोर्टल के लिए काम किया है। फिलहाल वे स्वतंत्र पत्रकारिता करते हैं।