राजद नेता आलोक मेहता ने नीतीश पर साधा निशाना, कहा अब ‘सत्यनारायण पूजा में भी रहना होगा सावधान’

PATNA: लोकसभा चुनाव को देखते हुए बिहार सरकार ने राज्य में सुरक्षा की दृष्टि से सरस्वती पूजा को लेकर विशेष अलर्ट जारी किया है। बता दें कि रविवार को सरस्वती पूजा का आयोजन किया जाएगा। सरस्वती पूजा को पूरे बिहार में बड़ी धूम-धाम से मनाया जाता है। पिछले कुछ वर्षों से इस पूजा के दौरान हंगामें की ख़बरें भी आई हैं। इसी को देखते हुए नीतीश सरकार ने अलर्ट जारी किया है। सुरक्षा को देखते हुए सरकार ने सभी जिलाधिकारियों और एसपी को अलर्ट पर रखा है। नीतीश सरकार के अलर्ट के फैसले को लेकर विपक्षी दल ने निशाना साधा है। 

Quaint Media

वहीँ कैबिनेट के भवन निर्माण मंत्री महेश्वर हजारी ने अलर्ट और सरकार की मुस्तैदी पर कहा कि कोई भी पर्व हो नीतीश कुमार विधि व्यवस्था को लेकर हमेशा सचेत रहते है। उन्होंने कहा सौहार्दपूर्ण माहौल में पर्व मानने के लिए इस तरह के अलर्ट होते है, फिर चाहे वह अल्पसंख्यक का त्योहार हो या बहुसंख्यक का सीएम नीतीश प्रशासन को अलर्ट रखते है। कुछ पार्टी अल्पसंख्यकों को ठगती रहती है। सीएम नीतीश कुमार का विजन सभी वर्गों को साथ रखने का है। उन्होनें कहा कि गलत तत्वों पर अंकुश लगाने के लिए सरकार हमेशा से मुस्तैद रहती है।

सरकार को आशंका है कि सरस्वती पूजा के दौरान कुछ गड़बड़ी हो सकती है । चुनावी साल को लेकर बिहार सरकार सुरक्षा की दृष्टि से कठोर कदम उठा रही है। चुनाव के चलते उपद्रवी लोग राज्य का माहौल न बिगाड़ दें इसके लिए अलर्ट जारी किया गया है। सरकार द्वारा दी गई इस सफाई पर आरजेडी ने सिरे से नकार दिया है। आरजेडी नेता आलोक मेहता ने कहा कि बिहार में लॉ-आर्डर की स्थिति बहुत खराब है। उन्होंने सरस्वती पूजा के अलर्ट पर कहा कि अब तो समय आ गया है कि सत्यनारायण पूजा में बिहार सरकार को अलर्ट करना पड़ेगा।