रामविलास के दामाद का बयान- मोदी ह’टाओ देश ब’चाओ,नीतीश के लिए कहा-दिल के अरमां आसुओं में बह गये

PATNA: राजद नेता अनिल साधु का बड़ा बयान सामने आया है। उन्होंने कहा है कि सीएम नीतीश कुमार के सामने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और अमित शाह ने भी अपनी औका’त दिखा दी कि वे कितने साथ देने वाले व्यक्ति हैं या उनकी पार्टी कितनी विश्वसनीय है। आगे उन्होंने कहा कि भाजपा को देश से हटा’ना होगा, तभी इस देश का कल्याण होगा। आपको बता दें कि अनिल साधु,  उपभोक्ता मामले, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्री रामविलास पासवान के दामाद हैं। वे पासवान की बेटी आशा पासवान से शादी की, लेकिन राजद के नेता हैं।

Anil sadhu and his wife Asha paswan daughter of Ramvilas paswan
मोदी-नीतीश गठबंधन पर कसा तंज-

आगे उन्होंने गाना के जरिये  नीतीश-मोदी के बीच के मत’भेद को समझाने की कोशिश की है। उन्होंने कहा कि दिल के अरमां आसुओं में बह गये। इतना ही नहीं, साधु ने एक कहावत के जरिये भी मोदी-नीतीश पर तं’ज कसे और कहा कि वे लोग गुड़ खा रहे हैं, लेकिन गुलगुले से परहेज कर रहे हैं।

बिहार में भाजपा को न्योंता देकर नीतीश ने पत्तल खीच लिया था, उसी का बदला नरेन्द्र मोदी और अमित शाह ले रहे हैं। चुनाव से पहले मोदी ने नीतीश के बारे में कहा था कि नीतीश के डीएनए में खोट है। इसपर अनिल साधु ने कहा कि इसके बाद क्या नीतीश को डीएनए का रिपोर्ट कार्ड मिल गया। साधु ने भाजपा पर तंज कसते हुए कहा कि भाजपा विश्वास करने वाली पार्टी नहीं है। राजनीति में ना कोई स्थायी दोस्त होता है और ना दुश्म’न। मोदी और भाजपा ने तो तुरंत अपनी औका’त दिखा दी। रामविलास कहते थे कि नीतीश मेरे परम मित्र है तो बिना जदयू के नेता के वे शपथ क्यों  ले लिये?

गौरतलब है कि 30 मई को मोदी सरकार के शपथ-ग्रहण समारोह में मंत्री पद का बंटवारा किया गया, जिसमें 6 सीटें जीतने वाली लोजपा को एक कैबिनेट मंत्री का सीट मिला। वहीं जदयू को भी एक मंत्री पद दिया जा रहा था, लेकिन जदयू ने लेने से इंकार कर दिया और कहा 16 सीटें जीतने के कारण कम-से-कम तीन मंत्री पद चाहिए, जिसे भाजपा ने नहीं माना। इसके बाद जदयू ने फैसला किया कि वे एक मंत्री पद नहीं लेंगे। हालांकि नीतीश कुमार ने कहा कि वे नाराज नहीं हैं। उनकी पार्टी मंत्रिमंडल में शामिल नहीं होंगे, लेकिन भाजपा के साथ गठबंधन बरकरार रहेगा। अब नीतीश का दर्द झलकने भी लगा है, जिसे आधार बनाकर विपक्ष जदयू पर हम’लावर है।