कोर्ट के आदेश के बाद कांटी थाने में अभिनेता अनुपम खेर के खिलाफ दर्ज हुआ FIR

PATNA :  कोर्टे द्वारा एफआईआर दर्ज करने के आदेश के बाद बॉलीवुड इंडस्ट्रिज के जाने-माने अभिनेता अनुपम खेर की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। कोर्ट ने यह आदेश देश के पूर्व प्रधानमंत्रियों डॉ. मनमोहन सिंह, स्वर्गीय अटल बिहार बाजपेयी और नरसिम्हा रा‌व सहित दूसरे कई बड़े नेताओं की छवि खराब करने के आरोप के मामले में दिया है। कोर्ट ने आदेश अधिवक्ता सुधीर ओझा द्वारा मुजफ्फरपुर कोर्ट में कुछ दिन पूर्व रीलिज हुई फिल्म द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर में कई पूर्व प्रधानमंत्रियों की छवि खराब करने के लिए दायर याचिका की सुनवाई के बाद दिया जिसके फिल्म में मुख्य भूमिका निभाने वाले अभिनेता अनुपम खेर और सहकलाकारों अक्षय खन्ना, अभिनेत्री दिव्या सेठ और फिल्म के निर्माता-निर्देशक समेत कुल 14 लोगों के खिलाफ जिले के कांटी थाने में मामला दर्ज कर अभियुक्त बनाया गया है।

इस फिल्म को लेकर अधिवक्ता सुधीर ओझा ने मुजफ्फपुर कोर्ट में परिवाद दायर किया था जिसके बाद कोर्ट ने दायर याचिका को गंभीर मानते हुए एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया था। इस याचिका में वादी ने फिल्म के निर्माता निर्देशक पर पैसा कमाने की नियत से पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह सहित कई बड़े नेताओं को डिफेम करने का आरोप लगाया था जिसको कोर्ट ने गम्भीर मानते हुए एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया था। अधिवक्ता सुधीर ओझा आए दिन किसी न किसी मुद्दे को लेकर नामचीन हस्तियों के खिलाफ कोर्ट में याचिका दायर करते रहते हैं। इससे पहले उन्होंने गत वर्ष मुजफ्फरपुर में अवैध रूप से चल रहे बीफ कारोबार पर बैन लगाने को लिए पटना उच्च न्यायालय में पीआईएल दाखिल किया था।

QUAINT MEDIA

अधिवक्ता सुधीर ओझा के दायरे से कोई नहीं बच सका है। मेगास्टार अमिताभ बच्चन से ले कर अन्ना हजारे और सलमान खान से लेकर सोनिया गाँधी कुल 480 के करीब याचिका दायर कर चुके हैं। ओझा 1996 से मुजफ्फरपुर कोर्ट में प्रैक्टिस कर रहे हैं। अपनी कमाई का आधा हिस्सा जनहित के मामलों पर खर्च करते हैं।