बिहार के अपूर्व राघव ने NEET में पहले ही प्रयास में प्राप्त किया 26 वां रैंक

PATNA : बिहार के अपूर्व राघव ने NEET में पहले ही प्रयास में अॅाल इंडिया 26 वां रैंक प्राप्त किया है । अपूर्व के घर पर खुशी का माहौल है । अपूर्व कक्षा 10 वीं पास करने के बाद ही 2017 में दिल्ली  पढ़ाई के लिए आ गए थे ।2017-2019 सत्र में उन्होंने दिल्ली में इंटर की पढ़ाई की ।अपूर्व बताते हैं कि इंटर की पढ़ाई के साथ-साथ वे मेडिकल की भी तैयारी किया करते थे।

अपूर्व ने बताया कि हर दिन वे 5 घण्टें नियमित रूप से पढ़ाई किया करते थे । उनका मुख्य फोकस NCERT के पुस्तकों पर होता था । अपूर्व के पिता आलोक कुमार BIHAR RENEWAL ENERGY DEVELOPMENT AGENCY के डायरेक्टर हैं वहीं उनकी माता डाॅ पूर्णिमा सिंह वीमेंस काॅलेज में एशोसिएट प्रोफेसर हैं । इनके पिता आलोक कुमार बताते है कि अपूर्व का शुरू से ही मेडिकल के प्रति रूझान था । वह इसको लेकर काफी गंभीर था ।

अपूर्व का घर बेगूसराय के रामगीरी गांव में है । अपूर्व का सपना AIIMS में पढ़ाई करने की है  । उन्हें AIIMS के रिजल्ट का अभी इंतजार है । आपको बता दें कि बुधवार को मेडिकल कॉलेजों में एडमिशन के लिए आयोजित की जाने वाली परीक्षा NEET (NATIONAL ELIGIBILTY CUM ENTRANCE TEST) का परिणाम घोषित हुआ था । परीक्षार्थी अपना परिणाम अधिकारिक वेबसाइट ntaneet.nic.in पर जाकर चेक कर सकते हैं।

2019 के नीट की परीक्षा में नलिन खंडेलवाल ने टॉप किया है। वे राजस्थान के रहने वाले हैं। नलिन 720 में से 701 नंबर लाकर ऑल इंडिया टॉपर बने हैं। वहीं दूसरे स्थान पर दिल्ली के भाविक बंसल है, जिन्हें कुल 700 नंबर मिले हैं और तीसरे स्थान पर यूपी के रहने वाले अक्षत कौशिक हैं।

इस बार लड़कियों में टॉपर माधुरी रेड़्डी हैं, जो सातवीं रैंक प्राप्त की हैं। माधुरी तेलांगना की रहने वाली हैं और 720 में से 695 नंबर लायी हैं। पहले 100 रैंको की लिस्ट में 20 लड़कियां शामिल हैं। आपको बता दें कि पिछले साल बिहार की बेटी कल्पना ने नीट में पहला रैंक लाकर राज्य का नाम रौशन की थी।