अश्विनी चौबे मोदी मंत्रिमंडल में शामिल, दोबारा बने स्वास्थ्य और परिवार कल्याण राज्य मंत्री

PATNA: अश्विनी चौबे को 2014 की 16वीं लोकसभा में बनी मोदी मंत्रिमंडल में केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण राज्य मंत्री बनाया गया था। 17वीं लोकसभा में भी एक बार फिर से भारतीय जनता पार्टी ने उन्हें केन्द्र में स्वास्थ्य और परिवार कल्याण राज्य मंत्री बनाया है। राज्य मंत्री बनाये जाने के बाद मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि जनता और मोदी की विश्वास नहीं टूटने दूंगा।

चौबे बक्सर लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र से 2014 में भाजपा की टिकट पर सांसद बने थे। एकबार फिर से बक्सर की जनता, उनपर विश्वास की और 17वीं लोकसभा 2019 के चुनाव में सांसद बनाकर दिल्ली भेजी, जिसे मोदी सरकार ने फिर से मंत्री बना दिया। गौरतलब है कि उन्होंने राष्ट्रीय जनता दल के नेता जगदानंद को भारी मतों से हारकर सांसद बने हैं। वे जगदानंद को लगभग एक लाख वोटों से हराये हैं। उन्हें कुल 473053 वोट मिला। वहीं दूसरे स्थान पर रहे जगदानंद को 355444 वोट ही मिला।

source: ECI

चौबे बिहार के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री रह चुके हैं। उनका जन्म भागलपुर में हुआ और पटना विश्वविद्यालय से पढ़ाई की। वे एक समाज सुधारक हैं और स्वच्छ भारत अभियान को काफी बल दिया।

मोदी के नये मंत्रिमंडल का चेहरा-
इस बार कई मंत्रालयों में बदलाव देखने को मिल रहा है। इस बार गृह मंत्रालय अमित शाह संभालेंगे, जबकि पिछली बार राजनाथ सिंह संभाल रहे थे । वहीँ राजनाथ सिंह को इस बार रक्षा मंत्रालय की कमान सौंपी गई है। वित्त मंत्रालय की जिम्मेवारी निर्मला सीतारमण को सौंपा गया है, जबकि मोदी की पिछली सरकार में उन्हें रक्षा मंत्रालय सौंपा गया था। इस बार भी रेल मंत्रालय की कमान पीयूष गोयल ही संभालेंगे। नितिन गडकरी को भी इस बार भी सड़क परिवहन एवं राजमार्ग और सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्रालय सँभालेंगे। विदेश मंत्रालय की कमान एस. जयशंकर को सौंपी गयी है जबकि मोदी के पिछले मंत्रिमंडल में सुषमा स्वराज विदेश मंत्री थी, लेकिन इसबार चुनाव लड़ी और ना ही मंत्री बनने की इच्छा जाहिर की।