आज से गया होकर चलेगी भागलपुर-नई दिल्ली साप्ताहिक ट्रेन

PATNA : भागलपुर-नई दिल्ली(BHAGALPUR-NEW DELHI) साप्ताहिक सोमवार से नए रास्ते से चलेगी। यह ट्रेन अब किऊल से पटना के रास्ते नहीं चलेगी, बल्कि भागलपुर से किऊल और किऊल से गया के रास्ते पंडित दीनदयाल उपाध्याय स्टेशन पहुंचेगी।

यह ट्रेन वापसी में भी इसी रूट पर चलेगी। ऐसे में भागलपुर से लेकर किऊल तक के यात्रियों को अब नवादा, गया के लिए एक और ट्रेन मिल गई है। अभी तक दो एक्सप्रेस ट्रेनें गया के लिए चलती थीं। सोमवार से ही भागलपुर-नई दिल्ली साप्ताहिक एक्सप्रेस में एलएचबी रैक भी लगाई जाएगी। भागलपुर से रवानगी का समय भी बदल गया है। साप्ताहिक एक्सप्रेस अभी हर सोमवार को शाम 5:30 बजे खुलती थी लेकिन 18 मार्च से दिन में 3:30 बजे खुलेगी। किऊल में शाम 6:00 बजे और गया 9:30 बजे रात में पहुंचेगी। इस ट्रेन का पंडित दीनदयाल उपाध्याय जंक्शन से नई दिल्ली के बीच समय सारिणी में कोई बदलाव नहीं किया गया है।

Quaint Media, Quaint Media consultant pvt ltd, Quaint Media archives, Quaint Media pvt ltd archives, Live Bihar, Live India

यात्रियों की सुरक्षा के लिए तैनात हुए पूर्व सैनिक :  मंडल से खुलने वाली ट्रेनों की एसी बोगियों में सफर करने वाले यात्रियों के लिए अच्छी खबर है। अब उनकी सुरक्षा के लिए मंडल रेल प्रशासन ने कोच मित्र के रूप में पूर्व सैनिकों को तैनात किया है। भारतीय रेल में समस्तीपुर पहला मंडल है, जहां यात्रियों की सुरक्षा में पूर्व सैनिक लगाए गए हैं। ट्रेन की बोगी में पूर्व सैनिक यात्री व रेल कर्मियों के बीच एक समन्वयक के रूप में कार्य करेंगे।

यात्रा में होने वाली समस्याओं के समाधान के लिए किस स्टेशन पर उन्हें किनके नंबर पर संपर्क करना है इसके लिए उन्हें निर्देशिका उपलब्ध कराई गई है। डीआरएम ने बताया कि भारतीय रेल में यह नया तरह का प्रयोग है। ऐसी कोच में पूर्व सैनिकों की तैनाती से यात्रियों की सुरक्षा तो होगी, यात्रियों को रेलकर्मी के बदले एक मित्र मिलेगा। बेड रॉल व कंबल चोरी पर विराम लगेगा। कोच मित्र के रूप में पूर्व सैनिक पूरी सफर के दौरान ट्रेन में रहेंगे। वह बोगी में यात्री व रेल कर्मियों के बीच समन्वयक की भूमिका निभाएंगे।

 

ट्रेन में एसी खराब हुई, सफाई नहीं है, पानी खत्म हो गया है, किसी यात्री की सामान चोरी हो गयी तो पूर्व सैनिक उक्त समस्याओं के समाधान के लिए संबंधित विभाग से संपर्क कर उसे ठीक कराने का कार्य करेंगे। इसके लिए यात्रियों को टीटीई अथवा रेल कर्मियों के आने का इंतजार नहीं करना पड़ेगा। यात्रा के दौरान आने वाली समस्याओं के समाधान के लिए पूर्व सैनिकों को मंडल प्रशासन द्वारा यात्रा निर्देशिका दी गई है। जिस में यह बताया गया है कि अगर ट्रेन गोरखपुर -लखनऊ के बीच से गुजर रही है।

भारतीय रेल में यह नया तरह का प्रयोग है। पूर्व सैनिकों की तैनाती से यात्री अपने को सुरक्षित महसूस करेंगे। बोगी में चोरी की घटनाओं पर लगाम लगेगी। समस्याओं के समाधान के लिए यात्रियों को बाेगी से बाहर भी नहीं जाना पड़ेगा। आरके जैन, डीआरएम