भारत बंद : भागलपुर में दुकानदारों ने बंद समर्थकों को लाठी डंडों से खदेड़ा

PATNA :  देश के विश्वविद्यालयों में 13 पॉइंट रोस्टर सिस्टम के खिलाफ संविधान बचाओ संघर्ष समिति समेत विभिन्न संगठनों और  विभिन्न राजनितिक दलों द्वारा आहूत भारत बंद का असर दिखने लगा है। कई जगह प्रदर्शनकारियों ने पटरी पर लेट कर ट्रेने रोकी तो कई जगहों पर सड़कों पर टायर जलाकर रास्ता रोकने का प्रयास किया। भागलपुर में भीम आर्मी के कार्यकर्ता जब जबरदस्ती दूकान बंद कराने की कोशिश करने लगे तो बंद समर्थकों ने उन्हें लाठी- डंडों की मदद से खदेड़ दिया। दुकानदार गुट बना कर प्रदर्शनकारियों को दौड़ा दौड़ा कर पीटने लगे जिस कारण इलाके में अफरा तफरी मच गई। पुलिस ने मौके पर पहुंच पर स्थिति को शांत किया। 

नवादा में भीम आर्मी के कार्यकर्ताओं ने एनएच 31 पर खूब उत्पात मचाया जिस कारण इंच पर दोनों तरफ वाहनों की लम्बी कतार लग गई। एनएच 31 पटना को रांची से जोडती है। सद्भावना चौक को प्रदर्शनकारियों ने जमकर प्रदर्शन किया जिस कारण लोग जाम में फंस गए।आरा में ट्रेन रोक रहे आइसा के 15 कार्यकर्ताओं को पुलिस ने हिरासत में लिया। बंद समर्थक अहमदाबाद-पटना एक्सप्रेस ट्रेन के परिचालन को बाधित करने का प्रयास कर रहे थे। पटना-गया रेलखंड पर जहानाबाद स्टेशन के पास बंद समर्थक राजद कार्यकर्ताओ ने रेलवे ट्रैक पर आग लगा कर परिचालन बाधित कर दिया जिस कारण पटना रांची जनशताब्दी एक्सप्रेस के पहिये थम गए। एनएच 83 पर भी राजद कार्यकर्ताओं ने जम कर उत्पात मचाया और सरकार विरोधी नारे लगाए। बंद समर्थकों का कहना है कि 13 पॉइंट रोस्टर सिस्टम को वापस लिए जाने तक आन्दोलन जारी रहेगा।

Quaint Media, Quaint Media consultant pvt ltd, Quaint Media archives, Quaint Media pvt ltd archives, Live Bihar, Live India

उधर बैकफुट पर आई सरकार ने संकेत दिए हैं कि वो अध्यादेश ला सकती है। केन्द्रीय  मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावेडकर ने कहा कि केंद्र सरकार 13 पॉइंट रोस्टर सिस्टम के खिलाफ अध्यादेश ला सकती है। 7 मार्च को होने वाली कैबिनेट की बैठक में इस सम्बन्ध में अंतिम फैसला लिया जाएगा। विपक्ष भी लगातार अध्यादेश की मांग कर सरकार पर दबाव बना रहा था। 13 पॉइंट रोस्टर सिस्टम में सरकार डिपार्टमेंट की बजाये यूनिवर्सिटी को बना सकती है आधार। जेडीयू नेताऔर राज्यसभा सांसद आरसीपी सिंह ने राजद पर भारत बंद को लेकर निशां साधते हुए कहा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने केन्द्रीय मंत्री प्रकाश जावेडकर से इस मामले में पहले भी बात कि थी। अगले 2 से 3 दिनों में अध्यादेश पर लिया जाएगा फैसला। प्रकाश जावेडकर ने भी कहा है कि अब आन्दोलन की कोई आवश्यकता नहीं है। कुछ लोग भड़काने की कोशिश कर रहे हैं। उनसे सावधान रखने की जरूरत है। सरकार आरक्षण को ख़त्म नहीं करने जा रही है।