दशहरा कार्यक्रम से दूर रहने पर बोले BJP प्रदेश अध्यक्ष, कहा- सभी नेता अपने कार्यक्रमों में थे व्यस्त

PATNA : दशहरा के अवसर पर राजधानी पटना के गांधी मैदान में हुए ‘रावण दहन’ कार्यक्रम के दौरान बीजेपी का कोई भी नेता मौजूद नहीं था। यहां तक कि उपमुख्यमंत्री की कुर्सी भी खाली दिखी। इस पर बिहार भाजपा के अध्यक्ष संजय जायसवाल ने सफाई दी है।

संजय जायसवाल ने दशहरा महोत्सव में बीजेपी नेताओं नहीं जाने पर सफाई दी और इस घटना के बाद से लगाए जा रहे सभी कयासों को गलत बताया है। बीजेपी की बागडोर संभाल रहे जायसवाल ने कहा कि मैं नेपाल में मनोकामना मंदिर में दर्शन कर रहा था। साथ ही सभी बड़े नेता अपना अपना कार्यक्रमों में व्यस्त थे। इससे एनडीए (NDA) की एकता पर कोई असर नहीं पड़ेगा।

संजय जायसवाल ने कहा कि गांधी मैदान में हमारी पार्टी के नेताओं के नहीं जाने से गठबंधन पर इसका कोई असर नहीं पड़ने वाला हैउल्लेखनीय है कि सीएम नीतीश के बेहद करीबी माने जाने वाले उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी की कुर्सी भी खाली रही। सबसे खास ये रहा कि मंच पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बगल में कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष बैठे जबकि, सामान्‍यत: उनके बगल में उपमुख्‍मंत्री सुशील मोदी बैठते रहे हैं।

आपको बता दें कि कई दिनों से भाजपा और जदयू के नेताओं के भीच मतभेद बढ़े हैं। बाढ़ के मुद्दे पर भाजपा और जदयू के बीच म’तभेद साफ साफ दिखे थे। मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार इसे प्राकृतिक आपदा बताते रहे हैं तो केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने इसके लिए सीधे तौर पर सीएम नीतीश को जिम्‍मेदार माना है। यही नहीं पूरे एनडीए की तरफ से जनता से माफी मांग उन्‍होंने जेडीयू की जिम्‍मेदारी भी तय करने की कोशिश की।वहीं नगर विकास मंत्री सुरेश शर्मा ने आरोप लगाया था कि अधिकारी उनकी बात ही नहीं सुनते थे।