बिहार बोर्ड की मैट्रिक परीक्षा में सिमुलतला ने फिर मारी बाजी, टॉप 18 में 16 छात्र शामिल

PATNA : बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने आज 10वीं बोर्ड के परिणाम जारी कर दिए हैं। इस परीक्षा में 13 लाख 20 हजार 36 उतीर्ण घोषित किए गए हैं जो कुल शामिल छात्रों का 80.73 प्रतिशत है। परीक्षाओं में 6 लाख से अधिक छात्राएं सफल हुईं हैं। बिहार बोर्ड के अध्यक्ष आनंद किशोर ने बताया कि अप्रैल माह में पहली बार देश के किसी बोर्ड में मैट्रिक का परीक्षा परिणाम घोषित हुआ है। बिहार बोर्ड ने एक कीर्तिमान रचा है। पिछले वर्षों की भांति इस वर्ष भी जमुई स्थित सिमुलतला आवासीय विद्यालय का जादू कायम रहा है।

मैट्रिक परीक्षा-2019 में सिमुलतला के सावन राज ने 486 अंक पाकर राज्य में टॉप किया है। वहीँ अगर बात राज्य के टॉप 18 छात्रों की करें तो इस लिस्ट में 16 छात्र सिमुलतला आवासीय विद्यालय के हैं। इस बार भी सिमुलतला आवासीय विद्यालय ने मैट्रिक नतीजों में अपना जादू बरकरार रखा है। पहले तीन स्थान पर जहां इसी स्कूल के छात्रों ने कब्जा किया वहीं टॉप के 18 छात्रों में 16 छात्र यहीं के हैं।

Quaint Media, Quaint Media consultant pvt ltd, Quaint Media archives, Quaint Media pvt ltd archives Live Bihar, Live Bihar, Live India

इस बार राज्य में टॉप-10 में कुल 18 छात्र आए हैं। इन 18 छात्रों में 16 सिमुलतला आवासीय विद्यालय के हैं। परीक्षा में सिमुलतला के छात्र सावन राज को 97.2 प्रतिशत अंक प्राप्त किये हैं। वहीँ दूसरे स्थान पर सिमुलतला के ही रॉबिन राज ने 483 अंक (96.6 प्रतिशत) प्राप्त किये। इसी के साथ ही सिमुलतला के प्रियांशु राज ने 96.20 प्रतिशत अंक लाकर तीसरा स्थान प्राप्त किया है।

बता दें कि इस साल 10वीं बोर्ड की परीक्षा में कुल 16 लाख, 60 हजार, 609 परीक्षार्थियों शामिल हुए। बोर्ड की परीक्षा 21 फरवरी से 28 फरवरी तक हुई थी। राज्यभर में कुल 1418 परीक्षा केंद्र बनाए गए थे। आनंद किशोर ने बताया कि वर्ष 2017 में ही बिहार बोर्ड को सबसे उत्कृष्ट बोर्ड बनाने का लक्ष्य रखा गया था। नई तकनीक और परीक्षा प्रणाली का लाभ छात्रों को मिला। इस बार महज 179 रिजल्ट ही पेंडिंग हैं।