बिहार का पहला बाल मित्र थाना खुला पूर्णिया में, यूनिसेफ के कंट्री हेड ने किया उद्घाटन

PATNA: बुधवार को बिहार के पूर्णिया में राज्य का पहले बाल मित्र थाने का उद्घाटन किया गया। इस थाने में बच्चों के लिए प्ले स्कूल की तरह सुविधाएं दी जाएंगी। वहीँ अब बच्चे पुलिस अंकल से डरेंगे नहीं। बच्चे पुलिस अंकल के साथ एक दोस्त की तरह बातें साझा कर सकते हैं।

यूनिसेफ के सहयोग से पूर्णिया के सदर थाने में राज्य का पहला बाल मित्र थाना खोला गया है। थाने की टैगलाइन बच्चों का अपना थाना रखी गई है। इस थाने का उद्घाटन यूनिसेफ के कंट्री हेड डॉ. यास्मीन अली हक और पूर्णिया के एसपी विशाल शर्मा ने मिलकर किया।

इस थाने की ख़ास बात यह है कि थाने की दीवारों पर बच्चों के पसंदीदा कार्टून की आकृति को बनाया गया है। जिससे बच्चे खुश रहें। उद्घाटन के दौरान एसपी विशाल शर्मा ने कहा कि यह राज्य का पहला बाल मित्र थाना है। जहां बच्चे डरेंगे नहीं बल्कि अपनी बात सहजता से हमारे सामने रख सकेंगे। उन्होंने बताया कि यूनिसेफ के सहयोग से जिले में पांच बाल मित्र थाने और खोले जाएंगे। यह थाना बच्चों को प्ले स्कूल के तरह महसूस होगा। जबकि यहां थानेदार भी सिविल ड्रेस में रहेंगे।

इस थाने के उद्घाटन के दौरान यूनिसेफ के कंट्री हेड ने कहा कि इस थाने के खुलने से बच्चों को काफी सुविधाएं मिलेंगी। इससे बाल मजदूरी और मानव व्यापार में भी कमी आएगी। उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र में यूनिसेफ द्वारा कई तरह के प्रोग्राम चलाए जा रहे हैं, जो कि काफी अच्‍छे साबित हो रहे हैं।