बिहार में लगातार जारी है बाढ़ का कहर, अबतक राज्य में 46 लोगों की मौ’त

PATNA: बिहार में बाढ़ का प्रकोप लगातार जारी है। जिसके चलते लोगों को करना पड़ रहा है परेशानियों का सामना। इतना ही नहीं बाढ़ के कहर के चलते राज्य में अबतक 46 लोगों की मौ’त भी हो चुकी है। मंगलवार तक लोगों की मौ’त का आंकड़ा 46 हो गया है।

बिहार के 12 जिले बाढ़ से प्रभावित हैं। जिसके चलते 20 लाख से अधिक लोगों को अपना घर छोड़ने के लिए मजबूर होना पड़ा। लोगों को जहाँ शरण मिल रही है वहीं अपना डेरा जमा रहे हैं।

किन-किन नदियों का जलस्तर है खतरे के निशान से ऊपर आप यहाँ देख सकते हैं। सबसे पहल बात करते हैं समस्तीपुर के रोसड़ा में कोसी कमला के जलस्तर की जहाँ जलस्तर खतरे के निशान से ऊपर है। बाढ़ के चलते जिले के 4 पंचायत जलमग्न हो गए हैं। वहीँ रोसड़ा प्रखंड का मुख्यालय से गांवों का संपर्क टूट गया है।

वहीँ मधुबनी में महाराजी बांध भी कई जगहों से टूट गया है जिससे पश्चिमी क्षेत्रों के दर्जनों गांव जलमग्न हो गए हैं। यहाँ पर भी लोगों में भी का माहौल है। लोग अपने -अपने घरों को छोड़कर सुरक्षित स्थानों की जा रहा हैं। बेनीपट्टी अनुमंडल में बना है महाराजी बांध भी जलस्तर बढ़ने के चलते टूट गया। जिससे आसपास के गांवों में पानी भर चुका है।

कोसी नदी के जलस्तर बढ़ने से लोगों में भी का माहौल:

बता दें बाढ़ के चलते नदियों का जलस्तर लगातार बढ़ता ही जा रहा है। जिससे आस-पास के लोगों डर का माहौल पैदा हो गया है। वहीँ कोसी नदी की बात करें तो पिछले वर्षों की भांति ही इस वर्ष भी जुलाई के महीने में ही कोसी का जलस्तर एक बार फिर से उफान पर है। इतना ही नहीं लगातार बारिश से पड़ोसी देश नेपाल से निकलने वाली बहुत से नदियों में भी जलस्तर काफी बढ़ गया है। जिसके चलते अररिया जिले के 4 प्रखंड बाढ़ से प्रभावित हो गए हैं।