बिहारी IAS मनीष रंजन की विलक्षण प्रतिभा को देखकर अमेरिकी प्रोफेसर ने 100 में 107.5 अंक दिए

PATNA: अमेरिका के यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया में बिहार के छपरा जिले के रहने वाले आईएएस मनीष रंजन ने एक परीक्षा में कुल 100 अंक में से 107.5 अंक प्राप्त किये। आपको बता दें कि अमेरिका में अच्छे विद्यार्थियों को कुल अंक से अधिक अंक देने का अधिकार प्रोफेसर के पास होता है इसलिए मनीष रंजन को 100 में 107.5 अंक दिया गया है। गौरतलब है कि उनको कुल अंक से अधिक अंक अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के सलाहकार टीम में शामिल प्रोफ्रेसर रकर सी जॉनसन ने दिया है।

मनीष रंजन झारखंड कैडर के 2002 बैच के आईएएस अधिकारी हैं। यही कारण है कि आईएएस एसोसिएशन ने ट्विटर के जरिए आईएएस मनीष रंजन को शुभकामनाएं दी है। मनीष रंजन पब्लिक अफेयर्स में मास्टर डिग्री की पढ़ाई अमेरिका में किये हैं। आपको बता दें कि उन्होंने अपनी बचपन की पढ़ाई नेतरहाट आवासीय विद्यालय से की। इसके बाद वे हिंदू कॉलेज से समाजशास्त्र और अर्थशास्त्र में स्नातक किये। इतना ही नहीं, उन्होंने पीएचडी की तो पढ़ाई की है साथ ही गुजरात के इंस्टीट्यूट आफ रूरल मैनेजमेंट से मैनेजमेंट की भी पढ़ाई की है। इसके अलावा मनीष रंजन ने 2002 के यूपीएससी की परीक्षा में चौथा रैंक लाकर खुद को साबित कर दिया। इसके साथ ही उन्होंने यह भी साबित कर दिया कि अगर भारत में कहीं से सबसे ज्यादा और अच्छे आईएएस ऑफिसर बनते हैं तो वो राज्य बिहार है।

आईएएस बनने के बाद उनकी पोस्टिग झारखंड में हुई। वे झारखंड के विभिन्न स्थानों यथा हजारीबाग, पाकुड़, देवघर, गढ़वा, खूंटी और लातेहार में काम कर चुके हैं। इतना ही नहीं, उन्होंने स्वास्थ्य, शिक्षा, श्रम और उद्योग, पर्यटन, कला संस्कृति विभाग में भी काम किये हैं। हालांकि वे अपर मुख्य निर्वाचन अधिकारी के पद पर कार्यरत हैं लेकिन वर्तमान समय में ड्यूटी से स्टडी लीव लेकर अमेरिका में पढ़ाई कर रहे हैं।