बिहार स्कूल ऑफ योगा को मिलेगा पांचवा अंतर्राष्ट्रीय योग पुरस्कार

PATNA : बिहार के मुंगेर जिले में स्थित बिहार स्कूल ऑफ योगा को पांचवा अंतर्राष्ट्रीय योग पुरस्कार दिया जाएगा । इसके साथ-साथ योग के प्रचार-प्रसार में लगी जापान की संस्था जापान योग निकेतन को भी पांचवें अंतर्राष्ट्रीय योग पुरस्कार के लिए चुना गया है। वहीं देश में व्यक्तिगत केटेगरी में गुजरात के स्वामी राजश्री मुनि को इस बार के अंतर्राष्ट्रीय योग पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा । वहीं विदेशी व्यक्तिगत केटेगरी में इटली की एंथोनीता रोजी को इस बार का अंतर्राष्ट्रीय योग पुरस्कार दिया जाएगा ।

इन सबकों पुरस्कार के रूप में 25-25 लाख रूपए दिए जाएंगे । पुरस्कारों के साथ-साथ सबकों प्रशस्ति पत्र भी दिए जाएंगे। पुरस्कारों की घोषणा करते हुए इस बात की जानकारी केंद्रीय आयुष राज्य मंत्री श्रीपद नाइक ने  होटल रेडिसन ब्लू  मे दी । इन पुरस्कारों का वितरण प्रधानमंत्री मोदी नई दिल्ली में करेंगे ।

आपको बता देें कि पीएम मोदी योग को सारे विश्व को अपनाने के लिए कई बार प्रेरित कर चुके हैं । अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 21 जून को मनाया जाता है। पहली बार यह दिवस 21 जून 2015 को मनाया गया था, जिसकी पहल भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 27 सितम्बर 2014 को संयुक्त राष्ट्र महासभा में अपने भाषण से की थी।

जिसमें उन्होंने कहा था कि -“योग भारत की प्राचीन परंपरा का एक अमूल्य उपहार है । यह दिमाग और शरीर की एकता का प्रतीक है। मनुष्य और प्रकृति के बीच सामंजस्य है । विचार, संयम और पूर्ति प्रदान करने वाला है तथा स्वास्थ्य और भलाई के लिए एक समग्र दृष्टिकोण को भी प्रदान करने वाला है  । यह व्यायाम के बारे में नहीं है, लेकिन अपने भीतर एकता की भावना, दुनिया और प्रकृति की खोज के विषय में है। हमारी बदलती जीवन- शैली में यह चेतना बनकर, हमें जलवायु परिवर्तन से निपटने में मदद कर सकता है। तो आइए एक अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस को गोद लेने की दिशा में काम करते हैं।”