बिहार से गुजरने वाली सभी ट्रेनों में मिलेगा बिहारी खाना, रेलवे बोर्ड की स्वीकृति का है इंतजार

PATNA: बिहार और बिहारियों के लिए एक खुशखबरी सुनने को मिल रहा है। अब बिहार से जाने और आने वाली सभी ट्रेनों में, यहां का स्थानीय व्यंजन मिलेगा। गौरतलब है कि यह फैसला किया गया है कि अब इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन(आईआरसीटीसी) की मेन्यू में बिहार का लिट्टी चोखा, चने की घुघनी, सत्तू-पराठा, दालपूड़़ी और चूड़ा-दही जैसे व्यंजनों खाने के लिए उचित कीमतों पर उपलब्ध रहेगा।

BIHAR TRAIN

रेलवे में इस तरह की व्यवस्था से बिहार से जाने और आने वाले बिहारियों को रास्ते में अपने पसंदीदा भोजन करने का मौका मिलेगा। गौरतलब है कि ट्रेनों में अपने स्थानीय भोजन नहीं खाने से लोग असंतुष्ट रहते हैं। आईआरसीटीसी ने फैसला लिया है कि उत्तर बिहार से चलने वाली ट्रेनों में सुबह के नाश्ते में चूड़ा-दही उपलब्ध कराया जायेगा। वहीं मध्य बिहार और दक्षिण बिहार से चलने वाली ट्रेनों में लिट्टी-चोखा उपलब्ध मिलेगा। इतना ही नहीं, सुबह के नाश्ते में यात्रियों को लिट्टी और चने की घुघनी खाने का भी विकल्प रहेगा। प्रत्येक शनिवार को खिचड़ी, दही और पापड़ भी मिलेगा। यात्रियों को लिट्टी-चोखा के अलावा देहाती चिकेन खाने के लिए मिलेगा।

बस रेलवे बोर्ड की स्वीकृति का है इंतजार-

लंबे समय से यात्रियों की ओर से चना दाल की पूड़़ी और हरी सब्जी की मांग की जा रही थी। यात्रियों को लिट्टी-चोखा के अलावा देहाती चिकेन खाने के लिए मिलेगा। इसे ध्यान में रखते हुए आईआरसीटीसी ने फैसला लिया गया है कि दाल की पूड़ी, हरी सब्जी, मछली, जीरा राइस, चूड़ा और मूंग दाल की घुघनी भी यात्रा के दौरान उपलब्ध रहेगा ताकि लोग मनमुताबिक खाना खा सके और मंगलमय यात्रा कर सके। यह जानकारी आईआरसीटीसी के क्षेत्रीय प्रबंधक राजेश कुमार द्वारा दी गयी है। उन्होंने यह भी कहा कि आईआरसीटीसी की ओर से बिहारी खानों को मेन्यू में शामिल करने के लिए एक प्रस्ताव रेलवे बोर्ड को भेजा गया, जिसकी स्वीकृति मिलते ही यह खाना सारी ट्रेनों में उपलब्ध हो जायेगा। गौरतलब है कि रेलवे बोर्ड ही उचित कीमत तय करेगी।