बिहार में लोकसभा चुनाव को लेकर BJP की नई रणनीति, जिसके बारे में विरोधी जानकर रह जाएंगे दंग

PATNA : लोकसभा चुनाव को लेकर देश के राजनीतिक दलों ने अपनी-अपनी रणनीति बनाना शुरू कर दिया है। इस बार बिहार में भी लोकसभा चुनावों को लेकर माहौल ज्यादा गर्म है। पिछले लोकसभा चुनावों को देखते हुए इस बार महागठबंधन ने एनडीए को सबक सिखाने के लिए कमर कस ली है। वहीँ भाजपा भी मैदान में पूरी तैयारी के साथ उतर रही है। भाजपा ने इस बार जो रणनीति बनाई है उसके बारे में जानकर विपक्षी दलों को धक्का लग सकता है।

बिहार में महागठबंधन को मात देने के लिए इस बार भाजपा ने एक विशेष रणनीति बनाई है। भाजपा की रणनीति के तहत पार्टी के नेताओं को रोजाना किसी न किसी कार्यक्रम या गतिविधियों के जरिये आम लोगों के बीच बने रहना है। राज्य में लगातार भाजपा का कोई न कोई कार्यक्रम या रैली का आयोजन किया जा रहा है। जिसका मक़सद ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ जुड़ना है। वहीँ शक्ति केंद्रों की चल रही बैठक के जरिये भाजपा अपने कार्यकर्ताओं और चुनिंदा लोगों के बीच लगातार संपर्क साध रही है। लोकसभा चुनाव को देखते हुए भाजपा ने अपनी तैयारी वार-फूट स्तर पर शुरू कर दी है।

Quaint Media

भाजपा की इस रणनीति के तहत पार्टी के बड़े नेता लगातार कार्यक्रमों में भागीदारी कर रहे हैं। वहीँ बिहार के साथ अन्य राज्यों में भी भाजपा ने इस रणनीति को लागू किया है। जिसके चलते कार्यक्रमों में बिहार के डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी, प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय समेत अन्य नेता भी लगातार शामिल होने के लिए जा रहे हैं। वहीँ इस रणनीति के चलते उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने भी अभी हाल ही में पूर्णिया के एक कार्यक्रम में शिरकत की थी।

Quaint Media

इसी के साथ ही बीजेपी ने प्रत्येक वर्ग के लोगों से सीधा संवाद कर उनका विचार जानने के लिए और अपनी विचारधारा से उन्हें अवगत कराने के लिए ‘मन की बात मोदी के साथ’ नामक अभियान भी शुरू किया है। भाजपा के इस कार्यक्रम तहत ही पटना में गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने प्रबुद्ध नागरिकों के साथ विचार-विमर्श किया था। राजनाथ सिंह समस्तीपुर के दलसिंहसराय में भी शक्ति केंद्र की बैठक में शामिल होने गये थे। वहीँ भाजपा के इस कार्यक्रम के साथ ही किसान सम्मेलन, ऑल इंडिया ओबीसी कॉन्फ्रेंस समेत अन्य कई कार्यक्रमों हैं। जिसके तहत लोगों तक पहुँच बनाई जा रही है। भाजपा की इस रणनीति का उद्देश्य अधिक से अधिक लोगों से जुड़ना है।