भूरा बाल साफ करो अभियान पर काम कर रहे हैं तेजस्वी, सोशल मीडिया ने राजद को बताया सवर्ण विरोधी

PATNA : लोक सभा में गरीब सवर्णों को दस प्रतिशत आरक्षण देने वाला बिल सर्व सम्मति से पास हो चुका है। राजद के तीन संसदों ने इस बिल के विरोध में वोट किया। एक तरह से कहा जाए तो राजद इस बिल का विरोध कर रही है। उधर सोशल मीडिया में राजद और तेजस्वी को ट्रोल किया जा रहा है। लोगों का कहना है कि तेजस्वी अपने पिता की राह पर चल रहे हैं। कभी लालू ने नारा दिया था कि भूरा बाल साफ करो। आज तेजस्वी उसी अभियान के तहत सवर्णों का विरोध कर रहे हैं। भूरा बाल में भू से भूमिहार, र से राजपुत, ब से ब्राह्मण और ल से लाला होता है।

सोशल मीडिया में किया जा रहा ट्रोल : San Tos Sh Dubey- ओबीसी ने1990के बाद से लालू मुलायम को भरपूर समर्थन दिया था पर उसके बदले में इन दोनों पार्टियों ने लगभग पूरे ओबीसी कोटे पर कब्जा कर लिया और सवर्णो को कोस कर ये जाति ओबीसी के अन्दर सवर्ण बन गई।यही कारण था कि2014आते आते अखिलेश और तेजस्वी का सफाया हो गया और लोगों ने नए ओबीसी के मसीहा मोदीजी पर विश्वास किया जिन्होंने संसद में पहली बार ओबीसी आयोग को संवैधानिक दर्जा दिया।आज की तारीख में सबसे बड़ा ओबीसी नेता मोदी है जिन्हें समाज के सभी वर्गों का बेतहासा समर्थन प्राप्त है।

lalu tej

Jagdish Prasad Sharma आरजेडी के अध्यक्ष चारा चोर लालू प्रसाद यादव ने पहले भी स्वर्ण जातियों को गालियां दी थी एना ईर्ष्या विद्वेष को प्रकट किया था 1990 में जयपुर में चारा चोर ने ब्राह्मणों के जनेऊ को धारण करने के लिए आपत्ति भी की थी अभद्र भाषा का प्रयोग किया था इसलिए राष्ट्रीय जनता दल से स्वर्ण के कल्याण के लिए किसी भी योजना का समर्थन की आशा नहीं करनी चाहिए क्योंकि लालू प्रसाद यादव की राजनीति सामाजिक न्याय के लिए कुछ जातियों को गाली देना ही तो है चारा चोर लालू प्रसाद यादव ने अपने परिवार को भ्रष्टाचार के माध्यम से पूंजीपति बना दिया है अन्य पिछड़ा वर्ग से और गरीबों से इनका कोई लेना देना नहीं है।

Subodh Yadav सही किया है दोस्तो अभी आप लोग पुरी रिपोर्ट पर विचार विमर्श किजिये सब समझ आ जाएगा वैसे भी बील अटका हुआ ही रह जाएगा आगे आगे देखिए कि क्या होता है? Happy Kumar अब मरीज अस्पताल मे पहले से ज्यादा डर रहे है । वे ये सोच रहे हैं कि पहले आरक्षण कि वजह से बने डाॅक्टर operatio करते वक्त उनके पेट मे कैंची नीडिल छोड़ जाते थे।अब धुप अगरबति कपुर और घंटा न छोड़ दें। Naveen Kumar लोकसभा मे RJD द्वारा जुमला आरक्षण का विरोध करना सही फैसला हैं। जुमलेलाज नरेन्द्र मोदी को पहले आरक्षण कैसे दिया गया उसे समझाने होंगे, चुनाव नजदीक आने से सर्वण याद आ गए।

Lalji Nagvansi सरकारी प्रा० विधालय मे जिस जाती के बच्चो का संख्या अधिक हो उन्हे आरक्षण मिलना चाहिए obc,sc,st या जनरल क्योकी गरीबो के बच्चे ही प्रा० सरकारी स्कूल मे पढते है। San Tos Sh Dubey 2015के बिहार विधानसभा चुनावों के दौरान लालू की पार्टी राजेडी ने 100 में से55टिकट एक ही जाति के लोगों को दिया उस समय ये सिद्धांत चारा खाने चला गया था क्या??? Mausham Yadav इसमें पर्दाफाश क्या.. खुलेआम बोल रहे हैं_ जिसकी जितने हिस्सेदारी, उसकी उतनी भागेदारी ।

The post भूरा बाल साफ करो अभियान पर काम कर रहे हैं तेजस्वी, सोशल मीडिया ने राजद को बताया सवर्ण विरोधी appeared first on Mai Bihari.