CBSE का फैसला, जांच में शिक्षक नहीं गये तो स्कूल पर 50 हजार जुर्माना

PATNA : सीबीएसई 10वीं और 12वीं बोर्ड की कॉपी जांच में नहीं जाने वाले शिक्षकों के स्कूलों पर 50 हजार रुपये का जुर्माना लगेगा। बोर्ड ने कॉपी जांच शुरू होने के साथ ही सभी स्कूलों को इस संबंध में निर्देश दिया है। जिले में कॉपी जांच के लिए पांच केन्द्र बनाए गए हैं। इन केन्द्रों पर अलग-अलग विषय की कॉपियों की जांच शुरू हो चुकी है।

सीबीएसई 10वीं और 12वीं बोर्ड की परीक्षाएं अभी चल ही रही हैं। परीक्षा के साथ ही बोर्ड ने इस बार अभी से ही कॉपी जांच भी शुरू कर दी है। बोर्ड की ओर से जारी निर्धारित योग्यता वाले शिक्षकों को ही कॉपी जांच में लगाया गया है। समय पर कॉपी जांच पूरा करने को लेकर बोर्ड ने शिक्षकों के साथ संबंधित स्कूल पर भी सख्ती की है। कहा है कि जो शिक्षक कॉपी जांच में योगदान नहीं करेंगे, उनके स्कूल पर 50 हजार रुपये का जुर्माना लगेगा।

बोर्ड की सख्ती के बाद तेजी से रिलीविंग दे रहे स्कूल: सीबीएसई बोर्ड के सिटी कॉर्डिनेटर एसके झा ने बताया कि 10वीं और 12वीं बोर्ड के लिए निर्धारित योग्यता के तहत ही शिक्षकों को लगाया गया है। एक शिक्षक 20-25 कॉपी जांच करेंगे और फिर इसी कॉपी को दूसरे शिक्षक भी चेक करेंगे। शिक्षकों के न आने से कॉपी जांच प्रभावित होती है। ऐसे में बोर्ड ने यह सख्ती की है।

बोर्ड के निर्देश के बाद कई स्कूल तेजी से शिक्षकों को रिलीव कर रहे हैं। रिलीविंग मिलने के बाद भी अगर शिक्षक नहीं आते हैं तो उन पर कार्रवाई होगी। पिछली बार अप्रैल में कॉपी जांच शुरू हुई थी। कॉपी जांच में अंक चढ़ाने को बदलाव: श्री झा ने बताया कि कॉपी जांच की प्रक्रिया में भी इस बार बदलाव किया गया है। कॉपी जांच के साथ उस दिन वेबसाइट पर अंक अपलोड करना है। अब तक एक दिन बाद यह प्रक्रिया होती थी।